July 07, 2022

Breaking News

केदारनाथ यात्रा की व्यवस्थाएं देखेंगे कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत

केदारनाथ यात्रा की व्यवस्थाएं देखेंगे कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत

-सुरक्षित एवं सुगम चारधाम यात्रा के लिए मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को सौंपी जिम्मेदारी
-तीर्थ यात्रियों की सुविधाओं का रखा जायेगा विशेष ध्यानः धन सिंह रावत

चारधाम यात्रा को सुव्यवस्थित, सुरक्षित एवं सुगम बनाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कैबिनेट मंत्रियों को जिम्मेदारी सौंपी है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने केदारनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी कैबिनेट मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत को सौंपी है। डॉ0 रावत ने कहा कि केदारनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरस्त करने के लिए जिला प्रशासन एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं। केदार धाम में तीर्थ यात्रियों की सुविधाओं को बेहत्तर बनाने के लिए शीघ्र मंदिर समिति के पदाधिकारी एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों की शीघ्र बैठक बुलाई जायेगी।


राज्य में संचालित चारधाम यात्रा को सुरक्षित एवं सुगम बनाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कैबिनेट मंत्रियों को अलग-अलग धामों की यात्रा व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौंपी है। इसी क्रम में केदारनाथ धाम की यात्रा व्यवस्थाएं कैबिनेट मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत देखेंगे। डॉ0 रावत ने कहा कि केदारनाथ में यात्रा व्यवथाओं को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए स्थानीय जिला प्रशासन एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दे दिये हैं।

Read Also  यूपी से परिसंपत्तियों के बंटवारे को होगी सचिव स्तरीय बैठक

उन्होंने कहा कि धाम में तीर्थ यात्रियों की कठिनाईयों को देखते हुए यात्रा व्यवस्था की लगातार मॉनटिरिंग की जायेगी और यात्रियों से फीडबैक भी लिया जायेगा। डॉ0 रावत ने कहा कि केदारनाथ की  भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए यात्रा रूट पर पूर्व में ही चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दे दिये गये हैं। यात्रा मार्ग पर चिकित्सा इकाईयों में चिकित्सक, फार्मासिस्ट, स्टॉफ व वार्ड व्वाय तैनात किये गये हैं।

प्रत्येक यूनिट में ईसीजी मशीन, कार्डिक मॉनिटर, डिफेब्रिलेटर, पोर्टेबल ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ जरूरी जीवनरक्षक दवाईयां उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने कहा कि धाम में तीर्थ यात्रियों एवं पर्यटकों के आवागमन इत्यादि को सुरक्षित, सुगम एवं सुविधायुक्त बनाने के लिये मंदिर समिति के पदाधिकारियों, जिला प्रशासन एवं यात्रा व्यवस्था से जुड़े सभी विभागों के उच्चाधिकारियों की शीघ्र बैठक बुलाकर व्यवस्थाओं को और बेहत्तर बनाया जायेगा।

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: