Be Positive Be Unitedवॉट्सऐप प्राइवेसी के नाम पर आपकी चैट पर नजर रखता हैDoonited News is Positive News
Breaking News

वॉट्सऐप प्राइवेसी के नाम पर आपकी चैट पर नजर रखता है

वॉट्सऐप  प्राइवेसी के नाम पर आपकी चैट पर नजर रखता है
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.



इन दिनों इंटरनेट पर वॉट्सऐप के हालिया अपडेट को लेकर चर्चाएं तेज हैं। ये अपडेट यूजर को फेसबुक के साथ निजी डेटा साझा करने के लिए मजबूर करता है, जिसके बाद से ही स्मार्टफोन यूजर्स का एक बड़ा समूह अपनी डेटा प्राइवेसी को लेकर काफी चिंतित है। अधिकांश यूजर्स को मालूम ही नहीं होता कि आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले ऐप और सेवाओं से प्राइवेसी को खतरा होता है। यहां हम आपको कुछ ऐसी ऐप और सर्विस के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें प्राइवेसी के नजरिए से आप वैकल्पिक तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

चैट और कम्यूनिकेशन: दो बिलियन से ज्यादा यूजर्स के साथ, चैट और ऑडियो / वीडियो कॉल के लिए वॉट्सऐप की सबसे लोकप्रिय सर्विस है, जबकि ये प्राइवेसी के नाम पर आपकी चैट पर नजर रखता है। वॉट्सऐप के बजाय आपको टेलीग्राम और सिग्नल, वैकल्पिक ऐप आपको आजमाना चाहिए। ये दोनों ही ऐप यूजर्स प्राइवेसी के लिए सेफ हैं और इनको इस्तेमाल करने के लिए यूर्जर्स को किसी भी तरह के डेटा जानकारी नहीं देनी होती।

सोशल नेटवर्क: फेसबुक दुनिया भर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सोशल नेटवर्क है। हालांकि, जैसे-जैसे फेसबुक के यूजर्स बढ़े है, वैसे-वैसे ही ये प्राइवेसी के मुद्दे पर भी चर्चा में आया। वॉट्सऐप अपने यूजर डेटा को सीधे फेसबुक पर साझा कर रहा है, जिसके बाद फेसबुक अब दो यूजर के डेटा को स्ट्रीम कर सकता है, जो डेटा प्राइवेसी को लेकर एक गंभीर चिंता का विषय है। अच्छी बात यह है कि आपके पास वैकल्पिक सोशल नेटवर्किंग साइट्स उपलब्ध हैं, जो आपकी गोपनीयता पर केंद्रित हैं। यदि आप ट्विटर जैसे इंटरफेस को पसंद करते हैं, तो आप मास्टोडन इस्तेमाल सकते हैं, जो एड फ्री है, उपयोग करने में आसान है और कोई जानकारी इकट्ठा नहीं करता है। इसके अलावा आप डायस्पोरा या सोशल ऐप भी इस्तेमाल कर सकते हैं।




ब्राउजर: ब्राउजर इंटरनेट से जुड़ने के लिए एक एंट्री गेट की तरह काम करता है। परेशानी यह है कि लगभग सभी आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले ब्राउजर (क्रोम, एज, सफारी आदि) यूजर्स को ट्रैक करते हैं और उनके डेटा को अपनी मूल कंपनी के साथ शेयर करते हैं। इन सब से बचने के लिए आप ब्रेव ब्राउजर को ट्राई कर सकते हैं, जो डेस्कटॉप और मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम दोनों पर उपलब्ध है। ये ब्राउजर यूजर की गतिविधि को ट्रैक नहीं करता है और एक इनबिल्ट एडब्लॉकर के साथ भी आता है। दूसरे ऑपशन के तौर पर टॉर ब्राउजर है, जो आपकी गतिविधि को रिवील नहीं करता है और आपके उपयोग डेटा को एन्क्रिप्ट करता है ताकि कोई भी इसे ट्रैक न कर सके।

ईमेल: आपका ईमेल आपकी व्यक्तिगत जानकारी का एक महत्वपूर्ण स्रोत है। यही कारण है कि यूजर्स की तरफ से आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली लगभग सभी ईमेल सर्विस में प्राइवेसी रिस्क रहता है। इन सब रिस्क से बचने के लिए एकमात्र तरीका सुरक्षित ईमेल सर्विस इस्तेमाल करना है। इस तरह के रिस्क को देखते हुए, प्रोटॉनमेल सबसे सही ऑपशन है। यह ईमेल के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन प्रदान करता है।

सर्च इंजन: स्मार्टफोन और कंप्यूटरों में गूगल सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन है, अगर आप प्राइवेसी को महत्व देते हैं, तो गूगल के इस्तेमाल की सलह नहीं दी जाएगी। Google आपकी एक्टिविटी को ट्रैक करता है और फिर उस जानकारी का इस्तेमा उत्पादों पर व्यक्तिगत विज्ञापन दिखाने के लिए करता है, जो कि किसी की प्राइवेसी के खिलाफ है। 




Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

doonited mast
%d bloggers like this: