May 18, 2022

Breaking News

चीनी मिलों को घाटे से उबारना बहुत ही चुनौतीपूर्णः बहुगुणा

चीनी मिलों को घाटे से उबारना बहुत ही चुनौतीपूर्णः बहुगुणा

 

 

 

 

लक्सर: गन्ना मंत्री सौरभ बहुगुणा ने लक्सर शुगर मिल का निरीक्षण किया। मिल में उपस्थित किसानों से मिलकर उन्होंने गन्ना पेराई सत्र में होने वाली परेशानियों के बारे में बात की। किसानों से बात करने पर मंत्री को पता चला कि किसानों के सामने समय पर गन्ना भुगतान न मिलने की समस्या है। उन्होंने किसानों से वादा किया कि सरकार इन्हें घाटे से उबारकर मुनाफा कमाने की हालत में लाएगी।

 

 

 


प्रदेश के गन्ना एवं पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा कि सरकार के नियंत्रण मे चलने वाली प्रदेश की चीनी मिलें घाटे में चल रही हैं। इसी से वहां के किसानों के सामने समय पर गन्ना भुगतान न मिलने की समस्या है। दावा किया कि सरकार इन्हें घाटे से उबारकर मुनाफा कमाने की हालत में लाएगी। बुधवार दोपहर बाद प्रदेश के गन्ना एवं पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा लक्सर चीनी मिल पहुंचे और फैक्ट्री का निरीक्षण किया।

 

 

 

निरीक्षण के बाद उन्होंने मिल प्रबंधन व गन्ना विभाग के अधिकारियों से बात कर चीनी मिल में पेराई, उत्पादन और भुगतान की समीक्षा की। समीक्षा के पश्चात उन्होंने कहा कि प्रदेश में ज्यादा चीनी मिलें सरकार के नियंत्रण वाली हैं। ये मिलें लगातार घाटे में चल रही हैं। मिलों के घाटे में होने के कारण वहां के किसानों को समय पर गन्ने का भुगतान भी नहीं मिल पा रहा है। कहा कि इन मिलों को घाटे से उबारकर मुनाफा कमाने की स्थिति में लाना प्रदेश की वर्तमान सरकार के सामने बड़ी चुनौती है।

 

 

 

सरकार इनके घाटे को शून्य कर आमदनी बढ़ाने के लिए योजना बना रही है। कहा कि इसका फायदा उस क्षेत्र के गन्ना किसानों को भी मिलेगा। मंत्री ने गन्ने के भुगतान को लेकर लक्सर मिल की प्रशंसा की। कहा कि लक्सर के अलावा उधम सिंह नगर के किच्छा चीनी मिल किसानों को उनकी उम्मीद से पहले गन्ने का भुगतान अदा कर रही हैं।

 

 

 

गन्ना मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि क्षेत्र के किसानों को शत प्रतिशत गन्ना खरीदने के बाद ही चीनी मिलें अपना पेराई सत्र समाप्त करेगी। ऐसा न होने पर मिल प्रबंधन पर कार्रवाई होगी। निरीक्षण के दौरान सहायक गन्ना आयुक्त शैलेंद्र सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. योगेश भारद्वाज, चीनी मिल के प्रधान प्रबंधक अजय खंडेलवाल, लक्सर गन्ना परिषद अध्यक्ष राजेंद्र सिंह परमार, गन्ना समिति अध्यक्ष जितेंद्र नागर, साधूराम वर्मा आदि मौजूद रहे।

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: