भव्यता के साथ संपन्न कराया जाएगा महाकुंभ मेलाः स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी | Doonited.India

August 21, 2019

Breaking News

भव्यता के साथ संपन्न कराया जाएगा महाकुंभ मेलाः स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी

भव्यता के साथ संपन्न कराया जाएगा महाकुंभ मेलाः स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
 

हरिद्वार:  श्री दक्षिण काली पीठाधीश्वर म.म.स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी महाराज ने कहा कि महाकुंभ भारतीय संस्कृति व सनातन धर्म की पहचान से जुड़ा पर्व है। अखाड़ों व संत समाज की अगुवाई में पूरी दुनिया से हिंदू धर्मावलम्बी महाकुंभ में गंगा स्नान करने व संत महापुरूषों का सानिध्य तथा आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए हरिद्वार आते हैं। महाकुंभ के पर्व को सनातन परंपराओं के अनुरूप पूरी भव्यता के साथ संपन्न कराया जाएगा।

 

अग्नि अखाड़े के सभापति स्वामी मुक्तानंद बापू के साथ महाकुंभ के आयोजन पर चर्चा करते हुए स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी ने कहा कि 2021 में होने वाले महाकुंभ की तैयारियों को लेकर सरकार को सक्रियता दिखानी चाहिए। महाकुंभ के शुरू होने का समय धीरे धीरे नजदीक आता जा रहा है। लेकिन तैयारियां कहीं दिखाई नहीं दे रही है। खासतौर पर सड़कों के चैड़ीकरण व फ्लाईओवर निर्माण की गति अत्यन्त धीमी है। सड़कों के चैड़ीकरण व यातायात से जुड़ी अन्य व्यवस्थाओं में सरकार को तेजी लानी चाहिए। उन्होंने कहा कि महाकुंभ की तैयारियों को लेकर 2020 में अक्तूबर माह से देश भर से संतों का हरिद्वार आगमन शुरू हो जाएगा। लाखों की संख्या में देश भर से आने वाले संतों के प्रवास के लिए कुंभ मेला क्षेत्र का विस्तार भी किया जाना है।

सरकार को इस संबंध में संतों से विचार विमर्श कर कुंभ मेला क्षेत्र के विस्तार की कार्रवाई शुरू करनी चाहिए। इसके अलावा पूरे कुंभ मेला क्षेत्र में स्थायी प्रकृति के निर्माण अधिक से अधिक कराए जाने चाहिए। जिससे कि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं तथा हरिद्वार की स्थानीय जनता को इसका लाभ लंबे समय तक मिलता रहे। कैलाशानंद ब्रह्मचारी ने श्रद्धालुओं से पर्यावरण संरक्षण संवर्द्धन में सहयोग देने की अपील करते हुए कहा कि बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए धरती पर वृक्षों का होना मनुष्य का जीवन बचाने के समान है। अग्नि अखाड़े के सभापति व स्वामी मुक्तानंद बापू महाराज व स्वामी साधनानंद महाराज ने प्रचण्ड बहुमत से मोदी प्रधानमंत्री बने हैं। उन्होंने कहा कि हिंदुओं के हितों को लेकर सरकार को सकारात्मक कदम उठाने चाहिए।

हिंदुओं के पर्वों में विशेष सहयोग प्रदान कर आयोजनों को भव्यता प्रदान करनी चाहिए। हरिद्वार का कुंभ मेला लाखों करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा हुआ है। केंद्र एवं राज्य सरकारों को कुंभ मेलों के आयोजनों में देश दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा का विशेष ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि जिस स्थान पर कुंभ मेले का आयोजन होता है। वहां देवी देवताओं का वास होता है। ईश्वरीय शक्ति प्राप्त करने के लिए दुनिया भर से आस्थावान श्रद्धालु कुंभ मेले के आयोजन में हिस्सा लेते हैं। उन्होंने राज्य की त्रिवेंद्र सरकार से भी अपील करते हुए कहा कि अधिक से अधिक स्थायी निर्माण किए जाएं। जिसका लाभ लंबे समय तक हरिद्वार की जनता को मिलता रहेगा। जिन स्थानों पर संत महापुरूषों के पण्डाल लगने हैं। उनका स्थानों का जीर्णोद्धार किया जाना जरूरी है। कुंभ मेला भूमि का विस्तार सरकार को रणनीति के तहत करना चाहिए।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: