खेल मंत्रालय ने सोमवार को अपने खेल परिसरों और स्टेडियमों में अभ्यास फिर से शुरू करने के लिये हरी झंडी दे दीDoonited News + Positive News
Breaking News

खेल मंत्रालय ने सोमवार को अपने खेल परिसरों और स्टेडियमों में अभ्यास फिर से शुरू करने के लिये हरी झंडी दे दी

खेल मंत्रालय ने सोमवार को अपने खेल परिसरों और स्टेडियमों में अभ्यास फिर से शुरू करने के लिये हरी झंडी दे दी
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

खेल मंत्रालय ने सोमवार को अपने खेल परिसरों और स्टेडियमों में अभ्यास फिर से शुरू करने के लिये हरी झंडी दे दी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस के चलते लगाये गये लॉकडाउन के चौथे चरण में इनको खोलने की अनुमित दी थी जिसके बाद खेल मंत्रालय ने यह फैसला किया।

खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कहा कि गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए सभी खेल परिसरों और स्टेडियमों में खेल गतिविधियां शुरू कर दी जाएंगी लेकिन जिम और तरणताल अभी बंद रहेंगे। जिन परिसरों को खोलने की अनुमति दी गयी है उनमें निजी कंपनियों द्वारा संचालित परिसर भी शामिल हैं। कोविड-19 बीमारी के कारण अभ्यास शिविर मार्च से ही बंद हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ”मुझे खिलाड़ियों और सभी संबंधित लोगों को यह सूचित करते हुए खुशी हो रही है कि गृह मंत्रालय और संबंधित राज्यों के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए खेल परिसरों और स्टेडियमों में खेल गतिविधियां संचालित की जाएगी। हालांकि जिम और तरणताल का उपयोग अब भी बंद रहेगा।”

गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन चार के दौरान पालन किये जाने वाले दिशानिर्देशों में से एक में लिखा गया है, ”खेल परिसर और स्टेडियमों को खोलने की अनुमति दी जायेगी, हालांकि दर्शकों को अनुमति नहीं होगी। ” मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार देश भर में खेल सुविधाओं और अकादमियों में खेल गतिविधियां शुरू की जा सकती है। इनमें ट्रांस स्टेडिया और जेएसडब्ल्यू ग्रुप जैसी निजी संस्थाओं द्वारा संचालित सुविधाएं भी शामिल हैं।



सूत्रों ने पीटीआई-भाषा से कहा, ”अब खेल गतिविधियां देश भर में शुरू हो सकती हैं। इनमें निजी खेल परिसर और राज्य सरकारों द्वारा संचालित सुविधाएं भी शामिल हैं लेकिन सभी को गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।” उन्होंने कहा, ”इन सुविधाओं को कब शुरू करना है, इसके लिये कोई समयसीमा नहीं है। यह पूरी तरह से खिलाड़ियों और राष्ट्रीय खेल महासंघों (एनएसएफ) पर निर्भर है। उदाहरण के लिये लॉकडाउन शुरू होने से ही साइ (भारतीय खेल प्राधिकरण) बेंगलुरू में रह रही हाकी टीमें कल से ही मैदान पर अभ्यास शुरू करना चाहती है तो वे ऐसा कर सकती हैं।”

सूत्रों ने कहा कि साइ केंद्रों में राष्ट्रीय शिविरों से जुड़ने वाले खिलाड़ियों को चिकित्सकीय जांच और 14 दिन के पृथकवास से गुजरना होगा। उन्होंने कहा, ”केवल साइ सुविधाओं ही नहीं निजी सुविधाओं और अकादमियों को भी अभ्यास शुरू करने से पहले चिकित्सकीय जांच सुनिश्चित करनी होगी।” भारत में अभी तक 90,000 से ज्यादा कोविड-19 मामले सामने आये हैं जिसमें करीब 3000 लोग जान गंवा चुके हैं। भारत में अभी केवल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के रूप में ही सबसे बड़ी प्रतियोगिता का आयोजन होना है जिसे अप्रैल में अनिश्चित काल के लिये स्थगित कर दिया गया था।

खेल मंत्री की घोषणा के बावजूद आईपीएल के हाल फिलहाल खाली स्टेडियमों में शुरू होने की संभावना भी नहीं है क्योंकि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रा पाबंदियां अब भी पहले की तरह लागू हैं। देशव्यापी लॉकडाउन मार्च के मध्य से शुरू हुआ था और भारतीय खेल प्राधिरकण के पटियाला और बेंगलुरू में परिसरों में ओलंपिक में जगह बना चुके शीर्ष खिलाड़ी पिछले दो सप्ताह से अभ्यास शुरू करने की मांग कर रहे हैं।

ओलंपिक को इस घातक महामारी के कारण 2021 तक स्थगित कर दिया गया है। पिछले सप्ताह रीजीजू ने कई वीडियो कांफ्रेन्स करके इस मामले में उनकी राय जानी थी। उन्होंने भारोत्तोलकों, हाकी खिलाड़ियों और ट्रैक एवं फील्ड के एथलीटों से भी बात की थी।



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : पीटीआई-भाषा

Related posts

%d bloggers like this: