देहरादून: जनपदीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित  | Doonited.India

December 11, 2019

Breaking News

देहरादून: जनपदीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित 

देहरादून: जनपदीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित 
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अपर जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग, परिवहन विभाग, लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग इत्यादि विभागों के अधिकारियों से सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में पूर्व के कार्यों की प्रगति तथा वर्तमान समय में शार्ट टर्म और लाॅंग टर्म स्टेप उठाये जाने के लिए जरूरी सुझावों का विवरण प्राप्त किया। अपर जिलाधिकारी ने परिवहन विभाग से ड्राईविंग लाईसेंस देने से पूर्व प्राॅपर एग्जामिनेशन करने, दुर्घटना के दौरान घायल व्यक्ति से आगामी अनुभव के लिए दुर्घटना के वास्तविक कारण को जानने, पब्लिक और सिविल सोसाटिज से रोड सेफ्टी के सम्बन्ध में सुझाव आमंत्रित करने हेतु ई-मेल के माध्यम से सुझाव आमंत्रित करने, सड़क मार्गों पर जहां साइनेज डिवाइस इत्यादि लगने हों वहां पुलिस के समन्वय से लगवाने और सड़क सुरक्षा समिति के सभी विभागों के मध्य वाट्सएप्प के माध्यम से बेहतर सूचना का आदान-प्रदान करने की प्रक्रिया पर कार्य करने के निर्देश दिये।

उन्होंने पुलिस, परिवहन, लोक निर्माण विभाग इत्यादि के द्वारा संयुक्त रूप से निरीक्षण करते हुए सड़क सुरक्षा में आड़े आने वाली बाधाओं यथा अतिक्रमण, होर्रि्डंस, कट्स, गड्डे , अनावश्यक स्पीड बे्रकर आदि को दूर करने की कार्यवाही करने की बात कही। साथ ही कहा कि अगली बैठक में नगर निगम और स्मार्ट सिटी का भी कोई प्रतिनिधि बैठक में जरूर प्रतिभाग करे और प्रजेन्टेशन के माध्यम से विभागवार अपनी प्रगति का ब्यौरा प्रस्तुत करेंगे।   विभिन्न सदस्यों द्वारा आपसी विचार-विमर्श में शहर में दुर्घटना के लिए जिम्मेदार कारकों में ओवरटेक, अतिक्रमण के कारण संकरी सड़कों पर पार्किंग की जगह ना होना तथा अनेक वर्कशाॅप की गाड़ियां सड़क पर पार्क होना, गड्डो, सड़क पर मटिरियल बिखरे होने इत्यादि कारक जिम्मेदार माने।

वहीं हाईवे पर तथा शहर से बाहर दुर्घटना के कारणों में अनावश्यक स्पीड बे्रकर, गड्डे, ड्राईविंगरूल का सही पता न होना, रोड़ क्रासिंग इत्यादि कारण जिम्मेदार माने। परिवहन विभाग ने अपने विवरण में अवगत कराया कि 1 फरवरी 2019 से अक्टूबर 2019 तक की अवधि में 32790 लोगों का रेडलाईट जम्पिंग, ड्राईविंग के समय मोबाईल उपयोग, ओवरटेक, ओवर स्पीड, डिंक करके वाहन चलाने इत्यादि के कारण चालान हुआ। 15157 ड्राईविंग लाईसेंस (डीएल) पर कार्यवाही की गयी। 69554 चालान सीट बैल्ट न पहनने और हैलमेट न लगाने से हुए और इस दौरान जनपद में कुल 268 सड़क दुर्घटना हुई जिसमें 140 लोगों की मृत्यु हुई और 241 लोग घायल हुए। इस अवसर पर बैठक में अपर जिलाधिकारी विध्रा बीर सिंह बुदियाल, पुलिस अधीक्षक यातायात  प्रकाश चन्द्र, जिला विकास अधिकारी प्रदीप पाण्डेय, अधिशासी अभियन्ता जे.एस चैहान, सहायक परिवहन अधिकारी अरविन्द पाण्डेय सहित सम्बन्धित विभागीय कार्मिक उपस्थित थे।   

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: