August 04, 2021

Breaking News
COVID 19 ALERT Middle 468×60

इसरो: भारत के गगनयान मिशन से जुड़ा बड़ा टेस्ट सफलतापूर्वक पूरा किया है

इसरो: भारत के गगनयान मिशन से जुड़ा बड़ा टेस्ट सफलतापूर्वक पूरा किया है

इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन (इसरो) ने बुधवार को भारत के गगनयान मिशन से जुड़ा बड़ा टेस्ट सफलतापूर्वक पूरा किया है. यह तीसरा टेस्ट था जो कि अब तक का सबसे लंबी अवधि तक सफल रहा. गगनयान मिशन को लॉन्च करने के लिए इसी विकास इंजन का इस्तेमाल किया जाएगा.

भारत का सबसे महत्वाकांक्षी मिशन

गगनयान मिशन भारत का सबसे महत्वाकांक्षी मिशन है. जिसके जरिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष तक भेजा जाएगा. इन यात्रियों को पृथ्वी की निचली कक्षा में भेज और उन्हें वापस धरती पर लाने की क्षमता प्रदर्शित करना है.

भारत ने इस मिशन की तैयारी 2014 में ही कर ली थी

भारत ने इस मिशन की तैयारी 2014 में ही कर ली थी जब जीएसएलवी मार्क 3 के जरिए मॉड्यूल को टेस्ट किया गया था. तारीख थी 18 दिसंबर 2014, मॉड्यूल का नाम CARE रखा गया था CARE यानी क्रू मॉड्यूल एटमॉस्फेरिक री एंट्री एक्सपेरिमेंट जो कि अंतरिक्ष तक पहुंच कर धरती की सतह पर लौट आया था जिसके बाद उस कैप्सूल को बंगाल की खाड़ी में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के पास से रिट्रीव किया गया था. जिसके बाद से लगातार गगनयान मिशन को लेकर ट्रेनिंग और टेस्ट का सिलसिला जारी है.

Read Also  Union Health Ministry: India 41,506 new cases of Covid, 895 fresh fatalities

ISRO ने बुधवार को जब इसकी जानकारी देने के लिए ट्वीट किया तो उस पर एलन मस्क ने भी कॉमेंट कर “बधाई भारत” कहा.

देश का पहला मानवयुक्त मिशन


गगनयान मिशन अंतरिक्ष भेजे जाने वाला देश का पहला मानवयुक्त मिशन है. इसे लिक्विड प्रोपेलेंट इंजन विकास की मदद से लॉन्च किया जाएगा. यही कारण है कि इसका बार-बार टेस्ट किया जा रहा है. अब तक तीन टेस्ट किए जा चुके हैं. जिसमें कल किया गया टेस्ट अब तक के लंबे ऊष्ण टेस्ट कोर L110 लिक्विड स्टेज के लिए 240 सेकंड्स तक किया गया था. यह टेस्ट तमिलनाडु के महेंद्रगिरी के इसरो प्रोपल्शन कॉम्प्लेक्स में किया गया.

Read Also  China is COVID-19 origins exposed

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: