Be Positive Be Unitedडीजीपी के कार्यकाल में मैने उनसे बहुत कुछ सीखा : अशोक कुमार, महानिदेशकDoonited News is Positive News
Breaking News

डीजीपी के कार्यकाल में मैने उनसे बहुत कुछ सीखा : अशोक कुमार, महानिदेशक

डीजीपी के कार्यकाल में मैने उनसे बहुत कुछ सीखा : अशोक कुमार, महानिदेशक
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

आज हम सबने उत्तराखण्ड पुलिस की ओर से माननीय पुलिस महानिदेशक महोदय को उनका सेवाकाल पुर्ण होने पर भावभीनी विदायी देने हेतु उनके लिए इस भव्य परेड का आयोजन किया है।

24 Aug 1987 को उन्होने भारतीय पुलिस सेवा कदम रखा। उन्होने अपनी स्कूलिंग Convent of Jesus & Marym, Hampton Court, St, George College Mussoorie, M.A.(Honours) English Literature University of Delhi से किया है।

उन्होने अपने कार्यकाल में ASP Barely, SP City Lucknow, SP Pilibhit, SP Raibareilly, SSP Azamgarh, Itava, Meerut, AD(OD)  NPA, राज्य गठन के उपरान्त सबसे पहले OSD के पद पर आगमन किया DIG, IG, ADG, अभिसूचना सुरक्षा,

ADG Admin, ADG L/O, ADG CID, PROSECUTION, Dir Viglence, CBCID तथा 24 JULY 2017 को डीजीपा का पदभार ग्रहण किया।          

उन्हे Director NPA’s Coomendation Disc- 1997, Police medal for long &meritorious service 2003, President police medal for distinguished service 2011 मै डल से अलंकृत किया गया।

उत्तराखण्ड पुलिस की स्थापना एवं विकास में महत्वपूर्ण भुमिका रही उत्तराखण्ड पुलिस की 20 साल की विकास यात्रा के साक्षी रहे उनका नाम उत्तराखण्ड पुलिस के इतिहास में हमेशा स्वर्णिम अक्षरों मे लिखा जायेगा।वे force के महान Leader थे। अधिकारियों की कार्यक्षमता को पहचानते थे। जहाँ एक ओर उन्होने उत्तराखण्ड पुलिस को professional Policing में दक्ष बनाया वहीं दूसरी ओर उनके लिए कहीं कल्याणकारी कदम भी उठाये।

उनके नेतृत्व में उत्तराखण्ड पुलिस के कही महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ हासिल की कहीं नए एप्प लोंच किए गए HPV, ADTF, Operation Mukti, e सुरक्षा चक्र, पहली बार देश के 15000 से अधिक थानों में उत्तराखण्ड पुलिस के 03 थाने देश के Top 10 में उत्कृष्ठ रहे। चतुर्थ श्रेणी से पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी व कर्मचारी की अधिवर्षता आयु पूर्ण होने पर प्रशस्ति पत्र दिये जाने की व्यवस्था की गयी।

जहा तक मैं महोदय व्यक्तिगत रुप से जानता हूं उनका अधीनस्थों को पूर्ण सम्मान देना तथा उनके द्वारा किये जा रहे अच्छे कि सराहनाव उत्साहवर्द्धन व सदैव पुलिस बल का मनोबल  उच्च रखने हेतु निरन्तर प्रयासरत रहे।

महोदय का अपने सहयोगी अधिकारियों  के साथ सहानुभूति व विवाद रहित सम्बन्ध रहा प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारियों को जो भी कार्य दिया गये उसके साथ उनको पूर्ण स्वतन्त्रा के साथ कार्य करने का अवसर दिया गया तथा समय समय पर अधिकारियों का प्रोत्साहन थी करते रहे। हमेशा posting /training मे स्थाकयत्व को महत्व दिया ।

उनके डीजीपी के कार्यकाल में उनके 2I/C के रुप में मैने उनसे बहुत कुछ सीखा है। मै परियास करुंगा की उनके सभी कार्यों को ओर आगे बढाऊं, मेरा यह भी परियास रहेगा हम सब मिलकर उनके पद चिन्हों पर चल कर उत्तराखण्ड पुलिस को नयी ऊंचाई पर ले जायेंगे।

DGP महोदय द्वारा पुलिस मुख्यालय में तैनात हेड का0 नागरिक पुलिस श्री विनोद प्रकाश डबराल को सराहनीय एवं उत्कृष्ट सेवा हेतु तथा 40 वीं वाहिनी पी0ए0सी हरिद्वार में तैनात हेड का0 श्रीमति सुषमा रानी को मानवाधिकार वाद विवाद प्रतियोगिता में राज्य में प्रथम स्थान तथा राष्ट्रीय स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।

इस अवसर पर श्री पी0वि0के0 प्रसाद, अपर पुलिस महानिदेशक, सीबीसीआईडी, समस्त पुलिस महानिरीक्षक, समस्त पुलिस उपमहानिरीक्षक, सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

doonited mast
%d bloggers like this: