हरीश साल्वे को मिली 1 रुपये फीस | Doonited.India

October 23, 2019

Breaking News

हरीश साल्वे को मिली 1 रुपये फीस

हरीश साल्वे को मिली 1 रुपये फीस
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन 6 अगस्त को गया था. निधन से कुछ देर पहले ही उन्होंने पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव का पक्ष रखने वाले वकील हरीश साल्वे को मिलने बुलाया था. ये बुलावा इस केस के लिए उनकी 1 रुपये की फीस देने के लिए था. शुक्रवार को सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज ने हरीश साल्वे को उनकी 1 रुपये की फीस दे दी.

वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने नीदरलैंड के हेग में स्थित अंतराराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) में कुलभूषण जाधव का पक्ष रखा था. इसके बाद आईसीजे ने जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी और पाकिस्तान को इस फैसले पर दोबारा विचार करने को कहा था. साल्वे ने इस केस की सुनवाई में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए 1 रुपये की फीस ली थी. लेकिन, सुषमा स्वराज का आकस्मिक निधन हो जाने की वजह से उन्हें उनकी फीस नहीं मिली थी. अब हरीश साल्वे को उनकी फीस मिल गई है.

इस संदर्भ में सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल ने ट्वीट किया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा- ‘आज आपकी अंतिम इच्छा पूरी कर दी गई है. कुलभूषण जाधव के केस की फीस में जो एक रुपया जो आप छोड़ गई थीं, उसे आज बांसुरी ने हरीश साल्वे को दे दिया है.’

Governor Swaraj@governorswaraj

@sushmaswaraj Bansuri has fulfilled your last wish. She called on Mr.Harish Salve and presented the One Rupee coin that you left as fees for Kulbhushan Jadhav’s case.

View image on Twitter

दरअसल सुषमा स्वराज के निधन के बाद हरीश साल्वे ने बताया था कि 6 अगस्त की देर शाम सुषमा स्वराज से उनकी बातचीत हुई थी. इस बातचीत के बमुश्किल एक-डेढ़ घंटे बाद सुषमा स्वराज के निधन की खबर आई थी. उस समय साल्वे ने कहा था, रात 8.50 के करीब मेरी सुषमा जी से बात हुई थी. उन्होंने कहा, तुम्हें मुझसे मिलने आना ही होगा. मुझे तुम्हें कुलभूषण जाधव केस की फीस का तुम्हारा एक रुपया देना है. सुषमा जी ने मुझे कल शाम 6 बजे मिलने बुलाया था.

6 अगस्त की देर शाम सुषमा स्वराज को कार्डियक अरेस्ट आया. वो घर पर थीं, जहां से उन्हें AIIMS ले जाया गया. ये रात साढ़े नौ से 10 बजे के बीच की बात है. वहां डॉक्टरों ने कहा, वो नहीं रहीं.

हरीश साल्वे ने सुषमा से हुई अपनी आखिरी बातचीत का ब्योरा यूं दिया था,

मैं बहुत हैरान हूं. मंगलवार रात 8.50 पर मेरी सुषमा जी के साथ फोन पर बात हुई. उस समय उनकी तबीयत बिल्कुल ठीक लग रही थी. बेहद भावुक बातचीत हुई हमारी. उन्होंने मुझे मिलने को बुलाया. कहा, मुझे तुम्हें कुलभूषण जाधव केस की फीस का तुम्हारा एक रुपया देना है. मुझे उनके पास जाकर अपनी फीस का वो एक रुपया लेना था. उन्होंने 7 अगस्त की शाम छह बजे मिलने बुलाया था मुझे.

2016 में जब कुलभूषण जाधव के गिरफ़्तार होने की ख़बर आई, तब सुषमा विदेश मंत्री थीं. फिर जाधव को पाकिस्तान की एक मिलिटरी कोर्ट ने मौत की सज़ा सुनाई. भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में इस फैसले के खिलाफ अपील की. केस लड़ने का जिम्मा हरीश साल्वे को दिया गया. उन्होंने एक रुपये की फीस पर केस लड़ा. अभी हाल ही में इंटरनेशनल कोर्ट ने जाधव केस में भारत की कई मांगों के पक्ष में फैसला दिया. इसके बाद हरीश साल्वे ने BBC से बात करते हुए मज़ाकिया अंदाज में कहा था-

अभी तक तो मुझे फीस के एक रुपये नहीं मिले हैं. सुषमा जी से फोन पर बात हुई है मेरी. उन्होंने कहा है कि भारत आओगे, तो ले लेना अपना एक रुपया.

हरीश साल्वे ने कहा था कि सुषमा उनकी बड़ी बहन जैसी थीं. शायद मज़ाक में कही फीस न मिलने की बात सुषमा ने भी पढ़ी हो. शायद इसीलिए वो भी लाड़ में हरीश साल्वे को फीस का एक रुपया लेने बुला रही हों.

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agency

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: