केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान: एनवायरनमेंट फ्रेंडली स्टील की भूमिका काफी अहम | Doonited.India

December 12, 2019

Breaking News

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान: एनवायरनमेंट फ्रेंडली स्टील की भूमिका काफी अहम

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान: एनवायरनमेंट फ्रेंडली स्टील की भूमिका काफी अहम
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

स्टील को अर्थव्यवस्था की बुनियाद कहा जाता है, क्योंकि यह लगभग हर क्षेत्र के लिए फीडर इंडस्ट्री का काम करता है। ऐसे में जब चर्चा ग्रीन और हरित अर्थव्यवस्थाओं की हो तो इसमें एनवायरनमेंट फ्रेंडली स्टील की भूमिका काफी अहम हो जाती है।

केंद्र की मोदी सरकार इस बात की अहमियत को समझते हुए ग्रीन स्टील के उत्पादन और खपत बढ़ाने की कवायद तेज कर रही है। केंद्रीय पेट्रोलियन एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को देशभर के इस्पात उत्पादकों से ग्रीन स्टील का उत्पादन बढ़ाने का आह्वान किया। प्रधान इंडियन स्टील एसोसिएशन द्वारा आयोजित स्टील कॉन्क्लेव में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था की किसी भी गतिविधि में पर्यावरण के मुद्दों को दरकिनार कर आगे नहीं बढ़ा जा सकता। आज नवीनीकरण ऊर्जा के क्षेत्र में दुनिया भारत को देख रही है। हमने 450 गीगावट अक्षय ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य तय किया है, इसे हासिल करने में स्टील की बड़ी भूमिका होगी। उन्होंने स्टील के उत्पादन और वितरण की प्रक्रिया से लेकर सोलर डिवाइस के विकास को प्रोत्साहित करने के लिए भी इस्पात निर्माताओं को आगे आने को कहा।

इस्पात इरादे’ से हासिल होगा लक्ष्य :

इस मौके पर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि 5 अरब डॉलर की इकोनॉमी की राह पर इस्पात इरादों के साथ ही बढ़ना होगा। मोदी सरकार-2 में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस के साथ इस्पात मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहे धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब भारत विशुद्ध इस्पात निर्यातक देश बनेगा। उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से भारत स्टील के आयात-निर्यात को समान स्तर पर ला दिया है। इसके पीछे भारत की तेल आयात के बदले स्टील निर्यात की वह नीति है जिसके अंतर्गत धर्मेंद्र प्रधान ने खाड़ी देशों से तेल आयात करने के बदले उन्हे भारतीय स्टील लेने को सहमत किया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : राजेश राज

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: