डेंगू मलेरिया व वायरल संक्रामक बीमारियों से लोग बुरी तरह से प्रभावित, मंलायुक्त ने की नियंत्रण कार्यों की समीक्षा | Doonited.India

September 22, 2019

Breaking News

डेंगू मलेरिया व वायरल संक्रामक बीमारियों से लोग बुरी तरह से प्रभावित, मंलायुक्त ने की नियंत्रण कार्यों की समीक्षा

डेंगू मलेरिया व वायरल संक्रामक बीमारियों से लोग बुरी तरह से प्रभावित, मंलायुक्त ने की नियंत्रण कार्यों की समीक्षा
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नैनीताल:  मण्डल के तराई और भाबर क्षेत्रों मे डेंगू मलेरिया व वायरल संक्रामक बिमारियों से जनमानस काफी प्रभावित है। जनपद नैनीताल के महानगर हल्द्वानी मे डेंगू के मरीजों के अलावा वायरल एवं मलेरिया से प्रभावित लोगों की संख्या मे काफी वृद्धि हुई, हल्द्वानी का सुशीला तिवारी चिकित्सालय तथा बेस चिकित्सालय मे बडी संख्या में मरीज भर्ती हैं जिनका ईलाज किया जा रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भारतीय राणा ने बताया कि 589 ईलाईजा पाॅजिटिव पाये गये हैं जिसमें से 506 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गये हैं। इसके साथ ही स्वास्थ महकमे द्वारा जनजागरूकता कार्यक्रम भी संचालित किये जा रहे है।

डेंगू व अन्य संक्रामक बीमारियो के प्रभावी नियंत्रण कार्यो की समीक्षा सचिव मुख्य मंत्रीध्आयुक्त श्री राजीव रौतेला द्वारा उत्तराखण्ड प्रशासन अकादमी के सभागार मे की गई। बैठक में आयुक्त श्री रौतेला ने निर्देश दिये कि विभिन्न प्रचार माध्यमों से जनसाधारण के बीच स्वास्थ विभाग के कर्मचारी जनता को जागरूक करने के लिए पहुचें इस कार्य में आशाकार्यकत्री एंव एएनएम घर-घर जाकर लोगों से दोतरफा संवाद बनाते हुये डेंगू, मलेरिया तथा वायरल बुखार के लक्षण एवं बचाव की जानकारी दें तथा डेंगू के लार्वा की खोज लोगों के घरों मे मौजूद कूलर, पुराने टायर, पानी से भरे गमले मे करें तथा उनको मौके पर नष्ट करे तथा लोगों का बताये कि इस प्रकार का होता है डेंगू का लार्वा।

उन्होने कहा कि प्रचार के विभिन्न माध्यमों से लोगोे को यह भी बताया जाए कि हर बुखार डेंगू नही होता, एलाइजा परीक्षण के बाद ही डेंगू की पुष्टि होती है और डंेगू का ईलाज सम्भव है, लोग भ्रांतियों से बचे इसके लिए डंेगू के लक्षण एवं उपचार के सम्बन्ध मे लोगो को बताया जाए।

रौतेला ने कहा कि स्कूलों, सरकारी विद्यालयों, प्रतिष्ठानांे आदि मे भी कूलर आदि मे पनप रहे लार्वा को भी नष्ट किये जाने के सम्बन्ध में विशेष अभियान संचालित किया जाए, कोशिश की जाए कि सभी लोग अपने प्रतिष्ठानों आदि में सप्ताह मे एक बार कूलरों आदि की सफाई करें ताकि लार्वा ना पनपने पाये। उन्होने नगर निगम के अधिकारियो से कहा कि वह नियमित रूप से प्रभावित क्षेत्रों के अलावा अन्य क्षेत्रों मे भी युद्ध स्तर पर फागिंग कार्य करायें साथ ही प्रत्येक दिन दो बार कूडे को भी उठाने का कार्य किया जाए ताकि अनावश्यक पडे कूडे से लार्वा उत्पन्न ना हो सकें।

उन्होने जनपद उधमसिह नगर तथा नैनीताल के चिकित्साधिकारियों से कहा कि वह सक्रिय एवं संजीदा होकर युद्ध स्तर पर कार्य करें। उन्होने सीएमओ डा0 भारती राणा को हल्द्वानी मे कैम्प करने तथा डेगूवार रूमध्कन्ट्रोल रूप बनाने के निर्देश दिये तथा डेंगूवार रूम मे हैल्प डैस्क बनाने के साथ डेंगू के जागरूकता सम्बन्धित प्रचार साहित्य के निर्देश भी दिये। उन्होने कहा कि डेंगू के लक्षण एवं बचाव पर आधारित पैम्पलेट तैयार कर समाचार पत्रों के माध्यम से जनमानस तक पहुचाये साथ ही होल्डिंग व फ्लैक्सी लगायें ताकि लोगो मे जागरूकता बडे। उन्होने इस कार्य मे समाजसेवी संस्थाओं, स्कूली छात्र-छात्राओं, एनसीसी, एनएसएस का भी सहयोग लेने की बात कही।

आयुक्त रौतेला ने निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य डा0 आरती ढौढियाल को निर्देश दिये कि वह डंेगू की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुये मण्डल के पर्वतीय जिलों मे कार्यरत फिजिशियन को रोस्टर के अनुसार बेस चिकित्सालय विशेष ड्यूटी के लिए सम्बद्ध करें। उन्होने कहा कि डेंगू का प्रकोप धीरे-धीरे कम हो रहा है लेकिन बचे हुये डेंगू को हम सभी लोग जनसहयोग के माध्यम से पूर्णतयाः समाप्त करें यह हमारा ध्येय होना चाहिए।

बैठक में मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला,जिलाधिकारी सविन बंसल मुख्य चिकित्साधिकारी उधमसिह नगर डा0 शैलजा भटट,प्राचार्य मेडिकल कालेज डा0 सीपी भैसोडा, चिकित्साधीक्षक एसटीएच डा0 अरूण जोशी, नगर आयुक्त हल्द्वानी सीएस मर्तोलिया, नगर आयुक्त रूद्रपुर, जयभारत सिह, नगर स्वास्थ अधिकारी डा0 मनोज काण्डपाल, मुख्य अभियन्ता लोनिवि बीएन तिवारी, अपरनिदेशक शिक्षा डा0 मुकुल सती, जिला मलेरिया अधिकारी अर्जुन सिह राणा आदि मौजूद थे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: