August 08, 2022

Breaking News

नर्सों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर शीघ्र वेतन दिलाने की गुहार लगाई

नर्सों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर शीघ्र वेतन दिलाने की गुहार लगाई

 

 

कुमाऊं के सबसे बड़े अस्पताल सुशीला तिवारी हॉस्पिटल (Sushila Tiwari Hospital Haldwani) की 78 नर्सें धरने पर बैठी हुई हैं. सभी नर्सों की नियुक्ति कोरोना काल में हुई थी. जिनको अब तीन महीनों से सैलरी नहीं मिली है.

 

 

 

नर्सों ने प्रदर्शन करने के साथ कार्य बहिष्कार किया है. वे कई दिनों से वेतन की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रही हैं. कोविड के समय सुशीला तिवारी अस्पताल में 78 से अधिक नर्सों को तैनात किया गया था.

 

 

 

नर्सों ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) को पत्र भेजकर शीघ्र वेतन दिलाने की गुहार लगाई है. नर्स पूजा कुमारी का कहना है कि 2020 से हम अस्पताल में काम कर रहे हैं. हम अपना काम पूरी ईमानदारी से करते हैं. हमारा तीन महीने का वेतन रोका गया है, जिसके लिए हम कई बार प्रिंसिपल से वेतन के लिए गुहार भी लगा चुके हैं.

Read Also  आग लगने से एक दर्जन से ज्यादा दोपहिया वाहन जलकर खाक

 

 

 

सुशील तिवारी में स्टाफ नर्स के पद पर तैनात मोनिका का कहना है पहले एक साल तक कोविड काल में हमें टाइम टू टाइम सैलरी मिलती रही, लेकिन तीन महीने से हमें सैलरी नहीं मिली है. हम लोग किराए के घर पर रहते हैं. हमारा घर दूर होने के कारण हमें कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. हमने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर भी वेतन दिलाने की गुहार लगाई है.

 

 

 

 

 


मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ अरुण जोशी का कहना है कि एक साल के लिए सुशीला तिवारी अस्पताल में 78 नर्सों की नियुक्ति की गई थी, जिसके बाद अब उनका कॉन्ट्रैक्ट दोबारा रिनुअल कराया जाएगा.

 

 

 

 

 

तीन महीने से सैलरी न मिलने पर नर्स प्रदर्शन कर रही हैं. मैं इस विषय में पहले ही सरकार को पत्र लिखकर सूचना दे चुका हूं. मैंने कई बार नर्सों से बात की और उनको काम पर लौटने का आग्रह कर चुका हूं. जल्द ही नर्सों का वेतन दे दिया जाएगा.

Read Also  उत्तराखंड सरकार ने निगम और निकायों सभी कर्मचारियों का तीन प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाया

 

Doonited Affiliated: Syndicate News Hunt

Source link

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: