नव वर्ष पर राज्य सरकार द्वारा समस्त शहरी स्थानीय निकायों को तोहफा | Doonited.India

March 24, 2019

Breaking News

नव वर्ष पर राज्य सरकार द्वारा समस्त शहरी स्थानीय निकायों को तोहफा

नव वर्ष पर राज्य सरकार द्वारा समस्त शहरी स्थानीय निकायों को तोहफा
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नव वर्ष पर राज्य सरकार की ओर से समस्त शहरी स्थानीय निकायों को तोहफा दिया गया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि स्थानीय निकायों के लिए धन की कमी नहीं होने दी जायेगी। उन्होंने कहा कि स्थानीय निकायों के विकास के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। नगर निकायों को सुदृ़़ढ़ करने के लिए सरकार द्वारा हर सम्भव प्रयास किया जायेगा। इस कड़ी में वित्तीय वर्ष 2018-19 की चैथी त्रैमासिक किश्त (अन्तिम किश्त) हेतु कुल 186 करोड़ 32 लाख 84 हजार की धनराशि अवमुक्त की गई है।

चतुर्थ राज्य वित्त आयोग की संस्तुतियों पर सरकार द्वारा लिये गये निर्णय के क्रम में समस्त शहरी स्थानीय निकायों (नगर निगम, नगर पालिका परिषद व नगर पंचायत) को वित्तीय वर्ष 2018-19 की चैथी त्रैमासिक किश्त (अन्तिम किश्त) हेतु कुल 186 करोड़ 32 लाख 84 हजार की धनराशि अवमुक्त करने हेतु वित्त सचिव श्री अमित नेगी द्वारा शासनादेश जारी किया जा चुका है। इसके तहत 08 नगर निगमों जिसमें 02 नगर निगम ऋषिकेश व कोटद्वार भी सम्मिलित हैं के लिए कुल 65 करोड़ 66 लाख 60 हजार रूपये की राशि अवमुक्त की गई है।

नगर पालिका परिषदों के लिए कुल 65 करोड़ 32 लाख 35 हजार रूपये की धनराशि अवमुक्त की गई है। जबकि नगर पंचायतों को कुल 11 करोड़ 25 लाख 35 हजार रूपये की धनराशि अवमुक्त की गई है। प्रदेश की सभी 13 जिला पंचायतों को कुल 42 करोड़ 64 लाख 86 हजार रूपये की धनराशि अवमुक्त की गई है।

नगर निगमों, नगर पालिका परिषदों व नगर पंचायतों को अवमुक्त धनराशि से पथ प्रकाश, जल संस्थान के देयको का भुगतान, कर्मचारियों के वेतन एवं भत्ते, सेवानिवृत्त कर्मचारियों के दावों का भुगतान व विकास कार्यों पर किया जायेगा। जबकि जिला पंचायतों को अवमुक्त धनराशि से सीवरेज तथा ठोस अपशिष्ठ प्रबन्धन, सैप्टेज प्रबंधन, जल निकासी एवं स्वच्छता, सामुदायिक परिसम्पत्तियों के रख-रखाव, स्ट्रीट लाईट, आंगनबाड़ी भवनों का निर्माण, अतिरिक्त कक्षा-कक्षों को निर्माण, वेतन भत्तों व विकास कार्यों पर किया जायेगा।

योजनाओं को पूरा करने के लिए धन की कमी न आड़े आये: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के निर्देश पर विभागीय योजनाओं का जनता को शत-प्रतिशत लाभ दिलाने के लिए जिला योजना की अवशेष 200 करोड़ रूपये की धनराशि सभी 13 जनपदों को जारी कर दी गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिव वित्त को निर्देश दिये कि योजनाओं को पूरा करने के लिए धन की कमी न आड़े आये। उन्होंने वित्त सचिव को विभागीय योजनाओं का निरन्तर अनुश्रवण करने के भी निर्देश दिये।

जिला नियोजन समिति द्वारा विभागवार/कार्यवार अनुमोदित परिव्यय सीमा के अधीन वित्तीय वर्ष 2018-19 की अवशेष 200 करोड़ रूपये की धनराशि अवमुक्त करने हेतु सचिव वित्त श्री अमित सिंह नेगी द्वारा शासनादेश जारी कर दिया गया है। यह धनराशि सामान्य अनुदान हेतु 158 करोड़ 20 लाख रूपये, स्पेशल कम्पोनेंट प्लान (एस.सी.पी) हेतु 35 करोड़ 58 लाख रूपये तथा ट्राईवल सब प्लान (टी.एस.पी.) हेतु 06 करोड़ 22 लाख 02 हजार रूपये की धनराशि सभी जनपदों को अवमुक्त की गई है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

Leave a Comment

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: