पहाड़ों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, देहरादून में झमाझम बरसे बदरा | Doonited.India

April 23, 2019

Breaking News

पहाड़ों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, देहरादून में झमाझम बरसे बदरा

पहाड़ों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, देहरादून में झमाझम बरसे बदरा
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

• मसूरी में सीजन का पहला हिमपात

देहरादून: ज्यूं-ज्यूं जनवरी माह अंतिम दिनों की ओर बढ़ रहा है वैसे-वैसे प्रदेश में मौसम और भी सर्द होता जा रहा है। देहरादून एवं मसूरी में कुछ ऐसा ही देखने को मिला। बीती रात साढ़े ग्यारह बजे फिर मौसम ने करवट बदली और शहर में झमाझम बारिश होने लगी। न्यूनतम पारा 8.4 सेल्यिसस से छह डिग्री सेल्सियस तक लुढ़कने से ठिठुरन भी बढ़ गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ प्रभावी है।

मौसम का मिजाज और तल्ख होगा। प्रदेश के कुछ जिलों में तीन दिन तक बारिश एवं बपर्फबारी हो सकती है। मसूरी में सीजन का पहला हिमपात हुआ है। जिससे पर्यटकों ने यहां आना शुरू कर दिया है । बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्राी और यमुनोत्राी के साथ ही हेमकुंड साहिब में जमकर बपर्फबारी हुई, वहीं निचले स्थानों में बारिश रुक रुककर हो रही है। विभाग के अनुसार मौसम का मिजाज और तल्ख होगा।


मौसम की चेतावनी के मद्देनजर जिला प्रशासन ने देहरादून, उत्तरकाशी, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, हरिद्वार और टिहरी के स्कूलों में अवकाश रहा। मसूरी के लाल टिब्बा में मौसम का पहला हिमपात हुआ। धनोल्टी, बुरांशखंडा, सुरकंडा, नागटिब्बा में बपर्फबारी हुई। मसूरी में तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर बीते रोज से घने बादल छाए हुए थे। बीती शाम से ही देहरादून, हरिद्वार, मसूरी और पौड़ी में बारिश शुरू हो गई, वहीं चारों धम में हिमपात हो रहा है।

केदारनाथ में करीब चार फीट बपर्फ गिर चुकी है। बर्फबारी के कारण पुनर्निर्माण कार्य भी प्रभावित हुए हैं। वहां मौजूद करीब चार सौ श्रमिक दिन भर अपने टेंटों में ही कैद रहे। उत्तरकाशी की हर्षिल घाटी और दयारा बुग्याल में भी बपर्फबारी हुई। मौसम विभाग के अनुसार न्यूनतम तापमान में चार से पांच डिग्री सेल्सियस का इजापफा हुआ। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में भारी बपर्फबारी के आसार हैं। इसके अलावा देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊध्मसिंहनगर में बारिश के साथ ओले भी गिर सकते हैं।


मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ ;वेस्टर्न डिस्टर्बेंस है। यह स्थिति करीब एक सप्ताह तक बनी रह सकती है। कुमाऊं में भी मौसम का मिजाज बदला। तराई व भाबर में बारिश हुई। अल्मोड़ा जिले के रानीखेत के स्याहीदेवी, चैबटिया तथा द्वाराहाट में दूनागिरि, भरतकोट व पांडवखोली की चोटियों पर हिमकण गिरने शुरू, हल्की बर्फबारी भी हुई। वहीं, पिथौरागढ़ नगर के निकट सौरलेख, ध्वज, थलकेदार, चंडाक, चैकोड़ी में हिमपात हुआ।

बर्फबारी के कारण गंगोत्री हाईवे गंगनानी से आगे बंद हो गया। धरासू यमुनोत्री राडी टाप व राणा चट्टðी से आगे बंद है। वहीं, पुरोली मोरी मार्ग जरमोला के पास मार्ग बंद हैं। मोरी जखोल मार्ग नैटवाड से आगे मार्ग बंद है। उत्तरकाशी लंबगांव मोटर मार्ग चैरंगी के पास हिमपात के कारण बंद है। हर्षिल घाटी, खरसाली, ओसला गंगाड के साथ भटवाडी, रैथल, बार्सू क्षेत्रा में जमकर बपर्फबारी हुई।



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

Leave a Comment

Share
error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: