विज्ञान प्रदर्शनी में राष्ट्रीय स्तर पर चयनित छात्र को डीएम ने किया सम्मानित  | Doonited.India

December 16, 2018

Breaking News

विज्ञान प्रदर्शनी में राष्ट्रीय स्तर पर चयनित छात्र को डीएम ने किया सम्मानित 

विज्ञान प्रदर्शनी में राष्ट्रीय स्तर पर चयनित छात्र को डीएम ने किया सम्मानित 
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
• अहमदाबाद में आयोजित प्रदर्शनी के लिए जिले के छात्रों का चयनित 
• छात्रों के मॉडल की सभी ने की सराहना 
रुद्रप्रयाग: जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी के लिए चयनित छात्र को जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने सम्मानित किया। राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की ओर से गुजरात के अहमदाबाद में 23 नवंबर से 27 नवंबर तक आयोजित विज्ञान प्रदर्शनी में रुद्रप्रयाग से दो छात्रों का चयन हुआ है। 
प्राथमिक विद्यालय डांगी-गुनाऊ के रोहित रौतेला का राष्ट्रीय स्तर पर चयन होने पर जिलाधिकारी ने बालक को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इसके अलावा प्राथमिक विद्यालय छिनका के ईश्वर सिंह के चयन पर भी डीएम ने हर्ष जताया। डीएम ने चयनित बालकों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अत्यंत परिश्रम और लगन से दोनों बालकों ने मॉडल तैयार किया है। बालको के राष्ट्रीय स्तर पर चयनित होने पर डीएम ने खघ्ुशी जताई और इसे रुद्रप्रयाग के लिए गौरव का विषय बताया। मुख्य शिक्षा अधिकारी सीएम काला ने कहा कि दोनों छात्रों का प्रयास सराहनीय है।
छात्रों ने उपयोगी मॉडल तैयार किया है। उप शिक्षा अधिकारी नंदा चंद्रा में कहा कि छात्र के मार्गदर्शक हेमंत चैकियाल के दिशा-निर्देशन में छात्र ने उत्प्लावन बल के सिद्धांत पर एक मॉडल तैयार किया हैस छात्र ने यह मॉडल उपयोगी साबित होगा। डायट रतूड़ा  प्रवक्ता व विज्ञान में छात्रों को प्रेरित कर रहे विनोद कुमार यादव कहते हैं कि छात्रों ने अपने मॉडल पर कड़ी मेहनत की है। हमें पूरी उम्मीद है कि राष्ट्रीय स्तर पर छात्रों के मॉडल सराहे जायेंगे।
रोहित के शिक्षक हेमंत चैकियाल ने बताया कि छात्र ने नदी नालों व जलाशयों में पानी की सतह पर बहते अपशिष्ट को पानी से बाहर करने वाले इस यन्त्र की विशेषता यह है कि किसी भी दशा में अपशिष्ट इसको पार नहीं कर सकता। दूसरा यह कि पानी के स्तर में वृद्धि होने पर यह संयन्त्र ऊपर उठ कर पानी के स्तर पर बना रखेगा। यदि पानी के स्तर में कमी आती है तो यह संयन्त्र नीचे गिर कर पानी के स्तर पर ही बना रहेगा, जिससे कूड़ा करकट इसके बाहर नहीं बह पायेगा।
संयन्त्र पर लगे सफाई बेलचों के द्वारा अपशिष्ट नदी के किनारे पर लगे कूड़ेदान तक पहुंचा दिया जायेगा। प्राथमिक विद्यालय छिनका में अध्ययनरत ईश्वर सिंह के शिक्षक आनंद प्रकाश माखनवाल ने बताया कि बालक द्वारा मॉडल को इज्जत घर नाम दिया गया था। जिसमें बालक ने एक फोल्डिंगकर इधर-उधर ले जाया जा सकने वाला मॉडल तैयार किया। इस मॉडल की विशेषता थी कि इसमें मूत्र त्याग के समय स्वयं ही पानी गिरता रहता है और बाहर निकलता है तो मूत्र सिंक में पानी गिरना बन्द हो जाता है और लाइट भी ऑफ हो जाती है। इस मौके पर जन अधिकार मंच से अधिवक्ता केपी ढ़ौंडियाल, बुद्धिबल्लभ ममगाई, केशव नौटियाल, योगेश जुयाल, तरुण पंवार, मोहित डिमरी आदि मौजूद थे।
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

Leave a Comment

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: