May 17, 2022

Breaking News

केदारनाथ धाम में आने वाले तीर्थयात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो : जिलाधिकारी मयूर दीक्षित

केदारनाथ धाम में आने वाले तीर्थयात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो :  जिलाधिकारी मयूर दीक्षित

श्री केदारनाथ धाम यात्रा को सुव्यवस्थित ढंग व सफल संचालन हेतु जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जा रही हैं ताकि केदारनाथ धाम में आने वाले तीर्थयात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो। इस आशय की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि यात्रा से संबंधित सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए है तथा सभी विभागीय अधिकारियों द्वारा अपनी-अपनी व्यवस्थाएं निरंतर सुचारू की जा रही हैं जिसमें स्वास्थ्य, पेयजल, विद्युत शौचालय, पार्किंग, शटल, सुरक्षा आदि व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं।  
     

जिलाधिकारी ने अवगत कराया है कि श्री केदारनाथ यात्रा में आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या के दृष्टिगत केदारनाथ धाम में उपलब्ध व्यवस्थाओं के अनुरूप ही यात्रियों को केदारनाथ हेतु रवाना किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष की यात्रा में अप्रत्याशित संख्या में श्रद्धालुओं के आने की आशा है। वर्ष 2019 की तुलना में इस वर्ष के शुरूआती दिनों में ही यात्रियों की संख्या में भारी वृद्धि देखने को मिल रही है। उन्होंने कहा कि कपाट खुलने के बाद से बुधवार (11 मई) तक लगभग 96 हजार लोगों ने केदारनाथ पहुंचकर दर्शन कर लिए हैं।

लोगों की सुविधाओं को लेकर कई इंतजाम किए गए हैं साथ ही जैसे-जैसे यात्रियों की संख्या बढ़ेगी उन इंतजामों में भी वृद्धि की जाएगी। शौचालयों की संख्या को बढ़ाया गया है तथा पेयजल की भी सुचारू व्यवस्था कर ली गई है। उन्होंने केदारनाथ धाम आने वाले श्रद्धालुओं से अपील की है कि यदि किसी व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत है वे अपनी जांच अवश्य कराएं। साथ ही पैदल मार्ग में रुक-रुक कर यात्रा करें। उन्होंने बताया कि यात्रा व्यवस्था के दृष्टिगत धाम में पहुंच चुके यात्रियों की मॉनीटरिंग की जा रही है तथा रुद्रप्रयाग से गौरीकुंड के मध्य उन्हें रोका जा रहा है। जैसे-जैसे जगह मिले उसी के अनुसार उन्हें भेजा जा रहा है। उन्होंने सभी से ध्यैर्य बनाए रखने की अपील की है तथा यात्रा में आने वाले लोगों से अनिवार्य रूप से अपना पंजीकरण करवाने की अपील की गई है।
           

 उन्होंने यह भी अवगत कराया है कि पुलिस विभाग द्वारा श्री केदारनाथ धाम यात्रा में आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या के दृष्टिगत जनपद के सीमांतर्गत सिरोबगड़, जवाड़ी बायपास, तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि, कुंड, गुप्तकाशी, सोनप्रयाग, गौरीकुंड इत्यादि विभिन्न स्थानों एवं गौरीकुंड से केदारनाथ 16 कि.मी. पैदल यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों में शांति एवं सुरक्षा हेतु आवश्यकता के अनुसार पुलिस बल नियुक्त कर बैरियर लगाए गए हैं।

यात्रा मार्ग एवं केदारनाथ धाम में उपलब्ध व्यवस्थाओं के अनुरूप यात्रा के प्रथम पड़ाव सोनप्रयाग से प्रातः 3 बजे से प्रातः 11 बजे तक ही तीर्थ यात्रियों को श्री केदारनाथ धाम के दर्शन हेतु आगे प्रवेश करने की अनुमति दी जा रही है तथा प्रत्येक घंटे में शटल सेवा की संख्या की मॉनीटरिंग की जा रही है। उन्होंने बताया कि गौरीकुंड में वाहनों के पार्किंग हेतु पूर्व से स्थल उपलब्ध न होने के कारण सोनप्रयाग से आगे स्थान गौरीकुंड तक यात्रियों के आवागमन हेतु परिवहन विभाग द्वारा शटल सेवा के माध्यम से सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके अलावा प्रतिदिन आने वाले तीर्थ यात्रियों की सुविधा व सुरक्षा हेतु यात्रा कंट्रोल रूम के माध्यम से हर एक घंटे गौरीकुंड से ऊपर जाने वाले यात्रियों की संख्या तथा केदारनाथ धाम में दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या की मॉनीटरिंग की जा रही है।

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: