जम्मू में महिला आतंकियों की बढ़ी सक्रियता | Doonited.India

December 14, 2018

Breaking News

जम्मू में महिला आतंकियों की बढ़ी सक्रियता

जम्मू में महिला आतंकियों की बढ़ी सक्रियता
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पहले अनिशा और अब शाजिया। यह दो नाम कश्मीर पुलिस के लिए सिरदर्द इसलिए बन गए थे क्योंकि महिला होने के कारण वे अभी तक बच रही थीं और उनकी सक्रियता से सभी परेशान इसलिए थे क्योंकि आतंकी गुटों के लिए काम करने वाली ये दोनों महिलाएं सभी को अपनी कारगुजारियों से चौंका रही थीं। इनमें से एक आतंकियों के लिए कूरियर का काम करते हुए हथियार व गोला-बारूद इधर-उधर कर रही थी तो दूसरी फेसबुक के माध्यम से युवकों को आतंकवाद में धकेल रही थी।

नौगाम रेलवे स्टेशन से पुलिस ने एक महिला आतंकी को गिरफ्तार किया। सुरक्षा एजेंसियां उससे पूछताछ में जुटी हुई हैं। इससे पहले एके-47 राइफल के साथ उसका फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। हालांकि, पुलिस ने इस बारे में आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं बताया है।

सूत्रों के अनुसार पकड़ी गई महिला आतंकी का नाम शाजिया है। वह उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा जिले के नायदखाई गांव की रहने वाली है। पिछले एक वर्ष से वह सक्रिय है। वह लश्कर तथा हिजबुल दोनों के लिए काम करती है।

सूत्रों ने बताया कि उसे हथियार चलाने का पूरा प्रशिक्षण है। वह इसके लिए प्रशिक्षण लेने भी गई थी। सूत्रों ने बताया कि पुलिस को यह सूचना मिली थी महिला आतंकी एक अन्य ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) के साथ ट्रेन से दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जाने वाली है। इस सूचना पर पुलिस ने नौगाम पुलिस स्टेशन पर जाल बिछा दिया। स्टेशन पर पहुंचते ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया। सुरक्षा एजेंसियां उससे पूछताछ में जुटी हुई हैं।

सुरक्षाधिकारियों ने बताया कि जिस महिला को गिरफ्तार किया गया है वह फेसबुक के जरिए से युवाओं को आतंकवाद में खासकर जैश-ए-मुहम्मद में शामिल होने के लिए उकसाती थी। अधिकारियों ने ये जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि इस महिला की पहचान उत्तर कश्मीर के बांडीपोरा इलाके के संबल क्षेत्र की शाजिया के रूप में की गई है। सूत्रों के अनुसार 60 के करीब लडकीयाँ कैम्प मे आतंक की ट्रेनिंग ले रही हैं।

खुफिया एजेंसियों ने उसके फेसबुक खाते पर नजर बनाए रखी थी जिसके जरिए वह युवाओं को जेहाद में शामिल होने और हथियार उठाने के लिए उकसाती थी। पूछताछ में यह बात भी सामने आई है कि उसने कुछ शस्त्र और गोलाबारूद अनंतनाग से आये दो युवाओं को सौंपे। इनमें से एक को पकड़ लिया गया है। दो बच्चों की मां, तीस साल की शाजिया पिछले कुछ समय से एजेंसियों के रडार पर थी।

इससे पहले श्रीनगर के लावेपोरा इलाके से महिला ओजीडब्ल्यू अनिशा को 10 ग्रेनेड तथा एके राइफल की 36 गोलियों के साथ गिरफ्तार किया गया था। महिला ओजीडब्ल्यू गोला बारूद की खेप लेकर सीमांत जिले कुपवाड़ा से दक्षिणी कश्मीर की ओर जा रही थी। वह पुलवामा जिले की रहने वाली है।

उत्तरी कश्मीर में एलओसी के साथ सटे कुपवाड़ा से 20 हथगोलों समेत हथियारों की एक बड़ी खेप लेकर आ रही एक महिला को उसके साथी समेत पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। दोनों से पूछताछ जारी है।

जानकारी के अनुसार, पुलिस को अपने तंत्र से पता चला था कि कुपवाड़ा से हथियारों की एक खेप लेकर आतंकियों के कुछ ओवरग्राउंड वर्कर श्रीनगर की तरफ आ रहे थे। राज्य पुलिस विशेष अभियान दल एसओजी ने श्रीनगर-बारामुला मार्ग पर लावेपोरा के पास किरमानीबाद जियारत के बाहर नाका लगाया। नाका पार्टी ने अपने साथ महिला पुलिस का एक दस्ता भी रखा।

नाका पार्टी ने कुपवाड़ा और बारामुला की तरफ से आने वाले सभी वाहनों की तलाशी लेना शुरू कर दी। इसी दौरान कुपवाड़ा की तरफ से एक टवेरा टैक्सी को आते देखा। इसकी नंबर प्लेट पर जेके01एम-0056 लिखा हुआ था। इसे जावेद अहमद गनई निवासी गांदरबल चला रहा था। जवानों ने टैक्सी में सवार लोगों की तलाशी ली। इन लोगों में एक महिला भी थी।

महिला पुलिस कांस्टेबलों ने जब महिला के सामान की तलाशी ली तो उन्हें उससे एक थैला मिला, जिसमें 20 हथगोले और अन्य विस्फोटक सामग्री थी। पुलिस ने महिला और वाहन में सवार उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया। टैक्सी को भी जब्त कर लिया गया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agency

Related posts

Leave a Comment

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: