September 26, 2022

Breaking News

केदारनाथ यात्रा के दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या 10 लाख 10 हजार से अधिक सारे रिकार्ड टूट गए

केदारनाथ यात्रा के दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या 10 लाख 10 हजार से अधिक सारे रिकार्ड टूट गए

केदारनाथ यात्रा में आने वाले भक्‍तों की संख्‍या के पुराने सारे रिकार्ड टूट गए हैं. केदारनाथ यात्रा के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या 10 लाख 10 हजार से अधिक पहुंच गई है. वह भी अगस्त माह तक चली यात्रा में ही यह डेटा सामने आ गया है. आगामी भैयादूज पर शीतकाल के लिए केदारनाथ के कपाट बंद होने तक ये आंकड़ा ओर बढ़कर नया रिकॉर्ड कायम करेगा. बतादें कि इस साल चारधाम यात्रा तीन मई 2022 को शुरू हुई थी. इसके बाद 6 मई को केदारनाथ धाम के कपाट खोले गए थे और तबसे ही केदारनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में खासा उत्‍साह दिखाई दिया था.

15 अगस्त तक केदारनाथ धाम पहुंचे श्रद्धालुओं की संख्या को लेकर जारी किए आधिकारिक आंकड़ों के हिसाब से 10 लाख 10 हज़ार से ज़्यादा भक्त धाम पहुंच चुके हैं, जबकि 2019 में यह संख्या 10 लाख 35 थी. इसी तरह, चारों धामों में अब तक पहुंचे श्रद्धालुओं की संख्या 30 लाख का आंकड़ा छूने के करीब है. भारी बारिश के कई दौरों के बीच हेमकुंड साहिब में भी डेढ़ लाख से ज़्यादा श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं.

Read Also  जौनसार-बावर के हनोल स्थित श्री महासू देवता मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं की पूजा-अर्चना

रिकाॅर्ड आंकड़े?
बद्रीनाथ – 10,66,340
केदारनाथ – 10,10,681
गंगोत्री – 4,67,757
यमुनोत्री – 3,60,365
हेमकुंड साहिब – 1,51,406

चार धाम व हेमकुंड साहिब तीर्थ को मिला कर कुल 261 लोगों ने इस बार दम तोड़ा. केदारनाथ के बाद सबसे ज़्यादा 70 मौतें यमुनोत्री और फिर 55 मौतें बद्रीनाथ में भी हुईं. 15 अगस्त को जब देश आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा था, तब चारों धामों में से केदारनाथ में सबसे ज़्यादा 8750 लोगों ने बाबा के दर्शन किए और बद्रीनाथ में 3433 यात्रियों ने.

रुद्रप्रयाग के एसपी आयुष अग्रवाल का कहना है कि सितंबर और अक्टूबर में माॅनसून की बारिश में कमी आने के साथ ही यात्रियों को अच्छी संख्या फिर देखी जाएगी. अग्रवाल ने बताया कि लैंडस्लाइड जैसी स्थितियों से निपटने के लिए चार धाम रूट पर पुलिस के साथ ही एसडीआरएफ की टीमें भी तैनात हैं.

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: