August 10, 2022

Breaking News

पिथौरागढ़ महाविद्यालय कैंपस को लेकर छात्र नेता आमने-सामने

पिथौरागढ़ महाविद्यालय कैंपस को लेकर छात्र नेता आमने-सामने

 

 

पिथौरागढ़. उत्तराखंड के सीमांत जिले पिथौरागढ़ का लक्ष्मण सिंह महर राजकीय महाविद्यालय (LSM PG College Pithoragarh Campus) इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है. पिथौरागढ़ में इस महाविद्यालय को एसएसजे अल्मोड़ा विश्वविद्यालय का कैंपस बनाए जाने के फैसले में स्थानीय छात्र और नेताओं के अलग-अलग मत हो गए हैं.

 

 

 

 

एक तरफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) जल्द कैंपस शुरू करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहा है, तो वहीं अन्य छात्र नेता सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं, जिससे सरकार के सामने असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है. वहीं, शासन के एक फैसले में इसका निर्णय जनमत द्वारा तय किए जाने की बात भी हो रही है.

 

 

एबीवीपी लगातार कॉलेज में प्रदर्शन कर कैंपस जल्द से जल्द खोलने को लेकर हस्ताक्षर अभियान चला रही है. विद्यार्थी परिषद जल्द कैंपस का संचालन न किए जाने पर कॉलेज में तालाबंदी की बात कर रही है.

Read Also  वन विभाग ने जायका परियोजना की मदद से रानीखेत वन क्षेत्र के सौनी में स्पाइस गार्डन बना

 

 

 

लंबे समय से पिथौरागढ़ के लोग इस महाविद्यालय को यूनिवर्सिटी बनाने की मांग करते आए हैं. त्रिवेंद्र रावत सरकार में तीन साल पहले पिथौरागढ़ के महाविद्यालय को अल्मोड़ा यूनिवर्सिटी का कैंपस बनाए जाने का फैसला लिया गया था. जिसके बाद से ही यहां असमंजस की स्थिति बनी हुई है.

 

 

 


पिथौरागढ़ कैंपस के पक्ष के उतरे छात्रों का कहना है कि कैंपस बन जाने से पिथौरागढ़ में और नए विषयों की पढ़ाई हो सकेगी, जिससे छात्रों को अन्य जगह नहीं जाना पड़ेगा.

 

 

 

वहीं विरोध में उतरे छात्रों का कहना है कि कैंपस बन जाने से छात्र संख्या सीमित हो जाएगी. छात्र नेता नितिन मारकाना ने पिथौरागढ़ महाविद्यालय के स्वरूप से छेड़छाड़ न कर किसी अन्य जगह कैंपस बनाए जाने की मांग की है. राज्य सरकार पिथौरागढ़ जिले में नया महाविद्यालय खोलने पर विचार कर रही है.

 

रिपोर्ट- हिमांशु जोशी

Doonited Affiliated: Syndicate News Hunt

Read Also  शिक्षा मंत्री ने शिक्षक एवं शिक्षिका पति-पत्नी दोनों को मकान किराया भत्ता दिए जाने का आश्वासन दिया

Source link

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: