August 08, 2022

Breaking News

दुर्लभ प्रजाति का जहरीला मशरूम

दुर्लभ प्रजाति का जहरीला मशरूम

देवभूमि उत्तराखंड अनेकों रहस्यों से भरा हुआ है. यहां आज भी ऐसी तमाम चीजें देखने-सुनने को मिल जाती हैं, जो हैरान करती हैं. कुछ ऐसा ही मामला सरोवर नगरी नैनीताल में सामने आया है, जहांटिफिन टॉप नामक पहाड़ी पर एक आकर्षक मशरूम देखा गया है.

इस मशरूम का बॉटनिकल नाम बोलेटस रुब्रोफ्लेमियस है. यह एक दुर्लभ प्रजाति का मशरूम है, जो भारत में पहली बार खोजा गया है. इसकी खोज करने वाले नैनीताल के मशहूर फोटोग्राफर और पद्मश्री से सम्मानित किए जा चुके अनूप साह (Anup Sah Nainital) हैं.

अनूप साह टिफिन टॉप की पहाड़ी पर चढ़े, तब उन्हें एक लाल रंग का मशरूम दिखाई दिया. उस मशरूम के बारे में ज्यादा जानकारी लेने के लिए उन्होंने मशरूम पर शोध करने वाले FRI से रिटायर्ड डॉ निर्मल एसके हर्ष को इसकी तस्वीरें भेजीं, जिन्होंने इस मशरूम को पहचाना.

अनूप साह का कहना है कि यह मशरूम काफी दुर्लभ प्रजाति का है. डॉ हर्ष से बात होने पर पता लगा कि इस प्रजाति का मशरूम नैनीताल ही नहीं बल्कि भारत में पहली बार देखा गया है. इसमें लाल रंग के बीजाणु हैं. यह भले ही दिखने में काफी आकर्षक है लेकिन यह एक जहरीला मशरूम है. टूटने के बाद वह नीले रंग का हो जाता है.

Read Also  फूलों की घाटी में फंसे 163 पर्यटकों को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया  

कुमाऊं विश्वविद्यालय में वनस्पति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर डॉ ललित तिवारी का कहना है कि यह मशरूम भारत में पहली बार खोजा गया है. इससे पहले साल 1971 में इसे अमेरिका के मिशिगन शहर में खोजा गया था. यह मशरूम पारिस्थितिकी तंत्र के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है. यह बांज जैसी प्रजातियों से अलग संबंध बनाकर रखता है.

Doonited Affiliated: Syndicate News Hunt

Source link

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: