November 28, 2022

Breaking News

कल्पेश्वर तीर्थः इस मंदिर के कपाट ग्रहण काल में भी नहीं होते बंद

कल्पेश्वर तीर्थः इस मंदिर के कपाट ग्रहण काल में भी नहीं होते बंद

गोपेश्वर,: ग्रहण के दौरान सभी मंदिरों को बंद रखा जाता है, लेकिन उत्‍तराखंड का एक ऐसा भी मंदिर है जिसे ग्रहण के दौरान बंद नहीं किया जाता है।

चमोली जिले के उर्गम घाटी में कल्पेश्वर तीर्थ एकमात्र ऐसा मंदिर है जिसका कपाट किसी भी ग्रहण काल में बंद नहीं होता, यह परंपरा पौराणिक काल से सतत चली आ रही है। 24 घंटे यह मंदिर खुला रहता है और कभी भी इस मंदिर के गर्भगृह में ताला नहीं लगाया जाता है।


मान्यता है कि यहां पर भगवान शिव के जटा भाग होने के चलते ताला नहीं लगाया जाता है, क्योंकि शिव के जटाओं से गंगा को रोका जाता है। इसलिए ग्रहण काल में भी ये मंदिर खुला रहता है।

शास्त्रों में वर्णित है कि भगवान शिव ने जटाओं से मां गंगा को रोका था। इसलिए यहां कपाट बंद नहीं होते। समुद्र मंथन के दौरान यहीं पर देवताओं और दानवों की बैठक हुई थी।

Read Also  चारधाम यात्राः हेली टैक्सी से 190 करोड़ रुपये आय

ग्रहण के दौरान आज भी कल्पेश्वर मंदिर बंद नहीं है। मंगलवार को सूर्य ग्रहण के दिन बदरीनाथ, केदारनाथ सहित चारों धाम के मंदिर बंद किए गए हैं।

पंचांग गणना के अनुसार 25 अक्टूबर मंगलवार प्रातरू चार बजकर 26 मिनट से शाम पांच बजकर 32 मिनट ग्रहणकाल में मंदिरों के कपाट बंद रहेंगे।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *