May 20, 2022

Breaking News

मतगणना के लिए दून, हरिद्वार, पौड़ी में अतिरिक्त फोर्स की तैनाती

मतगणना के लिए दून, हरिद्वार, पौड़ी में अतिरिक्त फोर्स की तैनाती

मतगणना को लेकर थ्री लेयर सुरक्षा घेरे में काउंटिंग सेंटर

प्रदेशभर में 10 मार्च को विधानसभा चुनाव काउंटिंग को लेकर निर्वाचन आयोग और सभी जिला प्रशासन ने अपनी तैयारी पूरी कर ली हैं। प्रदेशभर में कर्मचारियों ने चुनाव काउंटिंग को लेकर कमर कस ली है।. गुरुवार को प्रदेशभर में सुबह 8 बजे से काउंटिंग शुरू हो जाएगी। नैनीताल जिला प्रशासन भी पूरी तरह तैयार है। हल्द्वानी के एमबी पीजी डिग्री कॉलेज में गुरुवार को काउंटिंग की प्रक्रिया होगी।


हल्द्वानी के एमबी पीजी डिग्री कॉलेज में होने वाली काउंटिंग को लेकर जिला निर्वाचन पूरी तरह तैयार है। नैनीताल जिले की 6 विधानसभा सीटों की काउंटिंग के लिए करीब 700 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। जानकारी के तहत, सबसे पहले पोस्टल बैलेट की गिनती होगी। इसके बाद सुबह 8.30 बजे से ईवीएम मशीनों द्वारा वोटों की गिनती की जाएगी।

वहीं, सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए कड़े इंतजाम किए गए हैं। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन  को 3 लेयर सिक्योरिटी में रखा गया है। मतगणना स्थल पर बिना सुरक्षा कर्मियों की अनुमति के परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक सुरक्षा के इंतजाम बड़े कड़े किए गए हैं। उत्तराखंड के 70 विधानसभा सीटों के लिए 10 मार्च सुबह 8 बजे से मतगणना शुरू हो जाएगी।

प्रदेश भर की 13 जिलों की 70 विधानसभा सीटों के लिए होने वाली काउंटिंग को देखते हुए निर्वाचन आयोग द्वारा जोर-शोर से तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा गया। मतगणना शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो, इसको लेकर केंद्रीय सशस्त्र बल सहित उत्तराखंड पुलिस के अलग-अलग इकाइयों की भारी संख्या में फोर्स लगाई गई है। राजधानी देहरादून की 10 विधानसभा सीटों की मतगणना की तैयारी रायपुर स्थित महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में की जा रही है।

अलग-अलग विधानसभा सीटों के स्ट्रांग रूम से लेकर काउंटिंग स्थल तक 500 से ज्यादा सुरक्षा बल कड़े पहरे में तैनात किए गए हैं। महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में 2 काउंटिंग स्थल बनाए गए हैं, जिनमें 10 विधानसभा सीटों की काउंटिंग के लिए 5-5 विधानसभा सीटों को बांटा गया है। प्रत्येक विधानसभा सीट मतगणना के लिए कुल 21 टेबल लगाए गए हैं। इनमें 14 टेबल ईवीएम के वोटिंग काउंटिंग के लिए जबकि 7 टेबल पोस्टल बैलट पेपर के लिए रखी गई है।

मतगणना को लेकर देहरादून, हरिद्वार और पौड़ी जिला संवेदनशील होने के कारण यहां अतिरिक्त फोर्स लगाई गई है। जिसमें उत्तराखंड पुलिस के साथ-साथ पीएसी, केंद्रीय सशस्त्र बल की तैनाती की गई है। डीआइजी गढ़वाल रेंज करन सिंह नगन्याल ने बताया कि मतगणना स्थलों पर सुरक्षा कर्मियों को सतर्क रहने के निर्देश जारी किए गए हैं। कोई भी व्यक्ति बिना इजाजत मतदान स्थलों तक नहीं पहुंच सकेगा।


इस दिन मतगणना स्थल तक मोबाइल फोन ले जाना भी वर्जित होगा। आयोग की ओर से अनुमति के आधार पर एक कर्मचारी को ही स्थल पर मोबाइल ले जाने की अनुमति होगी, जोकि सूचना का आदान-प्रदान कर सकेगा। नगन्याल ने बताया कि रेंज में सभी जिलों से फोर्स की डिमांड भेजी गई थी। उसी के अनुसार फोर्स भेजी गई है।

देहरादून जिले में पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के अलावा पीएसी की दो कंपनियां व केंद्रीय सशस्त्र बल की दो प्लाटून तैनात रहेगी। इसी तरह हरिद्वार जिले में पीएसी की दो कंपनी और सशस्त्र बल की दो प्लाटून तैनात रहेगी।

पौड़ी जिले में पीएसी की एक कंपनी, एक सेक्शन और सशस्त्र बल की दो प्लाटून, टिहरी में पीएसी की दो प्लाटून व सशस्त्र बल के दो सेक्शन, चमोली में पीएसी की दो प्लाटून, आधा सेक्शन व सशस्त्र बल की दो प्लाटून, रुद्रप्रयाग में पीएसी की एक प्लाटून व सशस्त्र बल की एक सेक्शन और उत्तरकाशी में पीएसी की एक प्लाटून एक सेक्शन व सशस्त्र बल की दो प्लाटून तैनात रहेगी।

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: