कामकाजी महिलाओं के लिए सरकार की तरफ से आवासीय हॉस्टल जल्द | Doonited.India

August 24, 2019

Breaking News

कामकाजी महिलाओं के लिए सरकार की तरफ से आवासीय हॉस्टल जल्द

कामकाजी महिलाओं के लिए सरकार की तरफ से आवासीय हॉस्टल जल्द
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कामकाजी महिलाओं को जल्द सरकार की तरफ से आवासीय हॉस्टल मिलने जा रहा है। सर्वे चौक पर आईआरडीटी परिसर में चार मंजिला बिल्डिंग बनकर तैयार हो गई है। वीरांगना तीलू रौतेली के जन्मदिवस यानी आठ अगस्त को इस हॉस्टल का लोकार्पण होने जा रहा है। केंद्र सरकार ने महिला सशक्तिकरण विभाग को उत्तराखंड के प्रमुख शहरों में कामकाजी महिलाओं के लिए हॉस्टल प्रारंभ करने को बजट उपलब्ध कराया था। इसी क्रम में बीते तीन साल से इस 190 बेड के हॉस्टल का निर्माण चल रहा था। इस हॉस्टल में किचन सुविधा भी मिलेगी और सुरक्षा कर्मियों से लेकर सहयोगी स्टाफ तक महिलाएं ही होंगी।


रेखा आर्य,
महिला सशक्तिकरण बाल विकास राज्य मंत्री

तीलू रौतेली के नाम पर होगा भवन 
राज्य मंत्री रेखा आर्य ने बताया कि आठ अगस्त को वीरांगना तीलू रौतेली के जन्मदिवस पर हॉस्टल का उद्घाटन किया जाएगा। इसका नामकरण तीलू रौतेली के नाम पर होगा। इसी दिन सभी जनपदों से एक महिला और बालिका को उल्लेखनीय सेवाओं के लिए तीलू रौतेली महिला शक्ति अवार्ड दिया जाएगा। इसके तहत 21 हजार की राशि और प्रमाणपत्र भी दिया जाता है।

प्राइवेट सेक्टर की महिलाओं को भी सुविधा
केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक, ऐसे हॉस्टल में अधिकतम पचास हजार तक मासिक वेतन वाली महिलाएं रह सकती हैं। सरकारी और निजी क्षेत्र में काम करने वाली ऐसी महिलाओं को आवास की सुविधा मिलेगी, जिनका देहरादून शहर में अपना घर नहीं है। महिला के साथ अधिकतम पांच साल का लड़का या 18 साल की लड़की रह सकती है।

अकेली महिलाओं के लिए दूसरे शहरों में आवास तलाशना अपने आप-में चुनौतीपूर्ण काम होता है। इसलिए शहर के बीचों-बीच हॉस्टल होने से ऐसी महिलाओं को सुविधा रहेगी। इसका संचालन पीपीपी मोड पर किया जाएगा। किराये की दरें तय होनी हैं। लेकिन, यह बाजार दर से काफी कम होगा। इस हॉस्टल में महिलाएं पूरी सुरक्षा और सुविधा के साथरह सकेंगी।

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: