Be Positive Be Unitedयुद्ध हुआ तो अटल टनल को बर्बाद कर देंगे: चीनDoonited News is Positive News
Breaking News

युद्ध हुआ तो अटल टनल को बर्बाद कर देंगे: चीन

युद्ध हुआ तो अटल टनल को बर्बाद कर देंगे: चीन
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.




हिमाचल प्रदेश के रोहतांग में सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण अटल टनल (Atal Tunnel) का शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने उद्घाटन किया. इसके दो दिन बाद ही चीन की नई धमकी सामने आई है. चीन की सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने अटल टनल को लेकर धमकी दी है कि अगर युद्ध हुआ तो चीन की सेना अटल टनल को बर्बाद कर देगी.

ग्लोबल टाइम्स में अटल टनल को लेकर एक आर्टिकल छापा गया है. इसमें लिखा है कि भारत को अटल टनल बनाने से बहुत ज्यादा फायदा नहीं होने वाला है. ग्लोबल टाइम्स ने लिखा कि चूंकि इलाका पहाड़ी क्षेत्र हैं घनी आबादी वाला है इसलिए इसका निर्माण सिर्फ सैन्य मकसद से किया गया है. अटल टनल खुलने से भारतीय सेना को सीमा पर कम समय में तैनात किया जा सकता है इसके साथ ही सैन्य आपूर्ति भी इस सुरंग के जरिए ले जायी जा सकती है. ये सच है कि इस सुरंग के बनने से भारत के बाकी हिस्सों से लेह पहुंचने में अब कम वक्त लगेगा.

ग्लोबल टाइम्स ने अपने आर्टिकल में लिखा है कि भारत ने एलएसी पर अपने इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करना शुरू कर दिया है. डारबुक-दौलत बेग ओल्डी (डीएसडीबीओ) रोड 255 किमी लंबी सड़क है जिसका निर्माण पिछले साल पूरा हुआ है. ये सड़क लद्दाख तक जाती है. इन सड़कों के अलावा, भारत की सरकार ने भारत-चीन सीमा पर सामरिक नजरिए से अहम 73 सड़कों की पहचान की है जिन पर सर्दी में भी काम होता रहेगा. ने लिखा कि अभी शांति का वक्त है भारत को ये एहसास नहीं हो पा रहा है कि जंग छिड़ने पर अटल टनल काम नहीं आएगी. इस सुरंग के बनने से पूरा देश खुश है. लेकिन जहां तक भारतीय राजनेताओं की बात है, वे इसका इस्तेमाल सिर्फ दिखावे अपने राजनीतिक लाभ के लिए कर रहे हैं.




चीन के साथ लद्दाख में सीमा पर चल रहे गतिरोध के बीच वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया ने सोमवार को कहा कि चीन की चुनौती से निपटने के लिये “हम अच्छी स्थिति में हैं.” एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने लद्दाख में गतिरोध को लेकर कहा कि चीन से निपटने के लिये वायुसेना की तैयारियां अच्छी हैं और हमनें सभी प्रासंगिक इलाकों में तैनाती की है.

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि शत्रु को कमतर आंकने का कोई सवाल ही नहीं:
सीमा पर चीन की तैयारी को लेकर वायुसेना प्रमुख ने कहा कि शत्रु को कमतर आंकने का कोई सवाल ही नहीं है लेकिन “आश्वस्त रहिये, किसी भी चुनौती का सामना करने के लिये वायुसेना मजबूती से तैनात है.”

वायुसेना को संचालनात्मक बढ़त मिली:
हाल में वायुसेना में औपचारिक रूप से शामिल किये गए राफेल लड़ाकू विमानों के बारे में एयरचीफ मार्शल ने कहा कि इनकी तैनाती से वायुसेना को संचालनात्मक बढ़त मिली है. देश के सामने मौजूदा चुनौतियों को जटिल बताते हुए उन्होंने कहा कि हम दो मोर्चों पर जंग समेत किसी भी संघर्ष के लिये तैयार हैं.



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: