चुनावी ड्यूटी लगने से उत्तराखंड में लोग पानी को तरसे | Doonited.India

April 20, 2019

Breaking News

चुनावी ड्यूटी लगने से उत्तराखंड में लोग पानी को तरसे

चुनावी ड्यूटी लगने से उत्तराखंड में लोग पानी को तरसे
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जल संस्थान के कई डिवीजनों में पूरा स्टाफ चुनावी ड्यूटी में लगा दिया गया है। मिनिस्ट्रियल स्टाफ से लेकर इंजीनियरों तक की एक सिरे से ड्यूटी लगी है। आलम ये है कि ऑफिसों में शिकायतें सुनने वाला तक कोई नहीं है। देहरादून, हरिद्वार, यूएसनगर, हल्द्वानी, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, टिहरी, उत्तरकाशी समेत अधिकतर जिलों में चुनावी ड्यूटी की एक समान स्थिति है। देहरादून वॉटर वर्क्स दक्षिण शाखा की स्थिति तो ये है कि वहां पूरे स्टाफ को ही चुनावी ड्यूटी में लगा दिया गया है।  पेयजल सप्लाई सिस्टम से सीधे जुड़े लोगों की भी ड्यूटी लगा दी गई है। ऐसे में विभाग की ओर से तर्क दिया जा रहा है कि अप्रैल पहले सप्ताह में गर्मी बढ़ने पर सप्लाई सिस्टम प्रभावित हो सकता है। खासतौर पर जनता की ओर से आने वाली शिकायतों का निस्तारण कैसे होगा। ऐसे में पूरा सप्लाई सिस्टम ठेकेदारों के भरोसे रह जाएगा। ये समस्या अकेले जल संस्थान की ही नहीं, बल्कि नगर निगम, एमडीडीए, खाद्य आपूर्ति समेत तमाम दूसरे विभागों की है। सीधे जनता से जुड़े विभागों में आम जनता को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।  

बिजली को छोड़ आवश्यक सेवाओं को नहीं मिली छूट
चुनाव ड्यूटी में अभी तक आवश्यक सेवाओं वाले विभागों को छूट मिलती रही है। आमतौर पर बिजली व पानी से जुड़े महकमों को ही छूट मिलती थी। इस बार बिजली कर्मचारियों को तो चुनावी ड्यूटी से मुक्त रखा गया है, लेकिन इसके अलावा अन्य सभी विभागों को तैनात किया गया है। न सिर्फ राज्य सरकार, बल्कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों की चुनावी ड्यूटी लगाई गई है।

 

डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ ने जताया विरोध
जल संस्थान के इंजीनियरों की ड्यूटी लगाए जाने का जल संस्थान डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ ने विरोध किया है। संघ पदाधिकारियों का तर्क है कि जब पेयजल आवश्यक सेवाओं में है, तो क्यों इस बार चुनाव ड्यूटी लगाई गई। ऐसे में पेयजल सप्लाई प्रभावित होती है, तो इसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

पूरी कोशिश की जा रही है कि चुनाव ड्यूटी का असर पेयजल सप्लाई पर न पड़े। इसके लिए सभी इंतजाम किए जा रहे हैं। आम जनता को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत पेश आने नहीं दी जाएगी।
एसके शर्मा, मुख्य महाप्रबंधक जल संस्थान

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

Leave a Comment

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: