संयुक्त अरब अमीरात ने पाकिस्तान से कहा है कि वह कश्मीर को मुसलमानों का मुद्दा न बनाए | Doonited.India

September 22, 2019

Breaking News

संयुक्त अरब अमीरात ने पाकिस्तान से कहा है कि वह कश्मीर को मुसलमानों का मुद्दा न बनाए

संयुक्त अरब अमीरात ने पाकिस्तान से कहा है कि वह कश्मीर को मुसलमानों का मुद्दा न बनाए
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने कहा है कि उन्हें शीर्ष अधिकारियों से पता चला है कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने पाकिस्तान से कहा है कि वह कश्मीर को मुसलमानों का मुद्दा न बनाए। हामिद मीर ने बुधवार को जियो टीवी के एक कार्यक्रम में कहा कि उन्हें संघीय सरकार के कुछ जिम्मेदार लोगों ने बताया है कि यूएई ने पाकिस्तानी नेतृत्व से कहा है कि वह कश्मीर को मुसलमानों का मसला न बनाए।


मीर ने कहा कि उन्हें बताया गया है कि सऊदी अरब के विदेश मंत्री इसलिए पाकिस्तान पहुंच रहे हैं कि वह पाकिस्तान के साथ एकजुटता प्रदर्शित करेंगे। लेकिन, ‘आज (बुधवार को) सुबह हमें संघीय सरकार के कुछ बेहद जिम्मेदार लोगों ने बताया कि यूएई के विदेश मंत्री भी बजाहिर ऐसी एकजुटता ही दिखाने आ रहे हैं लेकिन इनके साथ पाकिस्तानी नेतृत्व की बीते दिनों जो बात हुई है, उसमें उन्होंने पाकिस्तानी नेतृत्व से जोर देकर आग्रह किया है कि वह कश्मीर को मुसलमानों का मसला बनाने की कोशिश न करे।’

सऊदी अरब, यूएई से ‘स्पष्ट संदेश’ चाहता है पाकिस्तान

पाकिस्तान ने सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से आग्रह किया है कि एक ऐसे समय में जब ‘पाकिस्तान और कश्मीर के लोग कश्मीर मामले में मुस्लिम जगत से ठोस समर्थन की उम्मीद कर रहे हैं’, तब ऐसे में इन दोनों देशों को कश्मीर मामले में ‘स्पष्ट और असंदिग्ध’ रुख अख्तियार करना चाहिए।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि यह घटनाक्रम इन चिंताओं के बीच हुआ है कि सऊदी अरब और यूएई समेत कई खास मुस्लिम देशों की प्रतिक्रिया कश्मीर मामले में ठंडी रही है।

सऊदी उप विदेश मंत्री अदेल हिन अहमद अल जुबैर और यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद बिन सुलतान अल नहयान ने बुधवार को एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में एक साथ एक हवाईजहाज से यात्रा की और एक साथ पाकिस्तान पहुंचे। माना गया कि इस तरह दोनों देश पाकिस्तान की कश्मीर को लेकर आहत भावनाओं पर मरहम लगाते हुए उसके साथ एकजुटता दिखाना चाह रहे थे। पाकिस्तान इन दोनों देशों द्वारा भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वोच्च सम्मान देने से परेशान है।

इन दोनों अरब नेताओं की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और सेना प्रमुख कमर बाजवा से बातचीत हुई और इसके बाद आधिकारिक बयान में कहा गया कि बातचीत के केंद्र में कश्मीर मुद्दा रहा। हालांकि इस बयान में साफ तौर पर ऐसा नहीं कहा गया लेकिन सूत्रों ने ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ को बताया कि इन मुलाकातों का मकसद भारत के साथ तनाव को कम करने में मदद करना और कश्मीर मामले में इन देशों के रुख से पाकिस्तान में नाराजगी को कम करना रहा।

विदेश कार्यालय ने बताया कि विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान और कश्मीर के लोग मुस्लिम जगत के मजबूत समर्थन की आशा कर रहे हैं। इस संदर्भ में यह बहुत जरूरी है कि कश्मीरी लोगों के साथ एकजुटता दिखाने का स्पष्ट और असंदिग्ध संदेश दिया जाना चाहिए।

आधिकारिक बयान में कहा गया कि ‘वे हाल के घटनाक्रम पर पाकिस्तानी अवाम की नाराजगी को पूरी तरह समझते हैं और जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार की लगातार बदतर होती स्थिति को लेकर चिंतित हैं।’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: