ट्रांसजेंडर बनी जज | Doonited.India

April 20, 2019

Breaking News

ट्रांसजेंडर बनी जज

ट्रांसजेंडर बनी जज
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

लाइब्रेरी साइंस में स्नातक की पढ़ाई करने वाली ट्रांसजेंडर सुमी दास अब लोक अदालत की जज बन गई हैं। जलपाईगुड़ी में सुमी मौसी के नाम से चर्चित इस महिला के संघर्ष और सफलता की कहानी हैरान करने वाली है। जज बनने के बाद अब वे अपने जैसे पीड़ित लोगों को उनका सम्मान और रोजगार दिलाने में मदद कर रही हैं।

सुमी का संघर्ष जन्म के कुछ समय बाद ही शुरू हो गया था। दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट में सुमी दास के हवाले से लिखा गया है कि उनका जन्म एक लड़के के रूप में हुआ था लेकिन बाद में उन्हें अहसास हुआ कि उनके हाव-भाव और बोलचाल का अंदाज सबकुछ लड़कियों जैसा था।

रिपोर्ट के मुताबिक सुमी का कहना है, ‘धीरे-धीरे मुझमें शारीरिक परिवर्तन भी होने लगा। अकेली संतान होने के चलते मां-बाप बहुत प्यार करते थे लेकिन जब उन्हें लगा कि मैं औरों से अलग हूं तो वे भी उपेक्षित करने लगे। स्कूल में बच्चे मुझ पर हंसते थे। बाद में परेशान होकर 14 साल की उम्र में मैंने घर छोड़ दिया।’

दर्दनाक दास्तां सुनाते हुए सुमी दास कहती हैं, ‘मेरे सामने पेट भरने की चुनौती थी। मेरी सुंदरता से लोग मेरी तरफ आकर्षित होते थे। कुछ दिनों बाद मैं भी अपने समाज के लोगों के साथ जलपाईगुढ़ी स्टेशन पर जाने लगी। वहां 50 रुपए में मैं अपना शरीर दूसरों के हवाले कर देती थी। इससे पेट की भूख तो मिट जाती थी लेकिन सम्मान की भूख मिटाने के लिए मैंने एक एनजीओ में नौकरी कर ली। एनजीओ प्रोजेक्ट के तहत मुझे कंडोम बांटने होते थे, थोड़े दिन बाद लोग मुझे कंडोम मौसी के नाम से ही पुकारने लगे।’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

Leave a Comment

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: