Be Positive Be Unitedपर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बदरीनाथ मास्टर प्लान पर स्थानीय व्यापारियों-तीर्थ पुरोहितों से बैठक कीDoonited News is Positive News
Breaking News

पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बदरीनाथ मास्टर प्लान पर स्थानीय व्यापारियों-तीर्थ पुरोहितों से बैठक की

पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बदरीनाथ मास्टर प्लान पर स्थानीय व्यापारियों-तीर्थ पुरोहितों से बैठक की
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

-मंदिर की तरफ नारायण पर्वत क्षेत्र का पैदल भ्रमणकर अवलोकन किया
-उत्तराखंड के अमरनाथ टिंबर सेंण रवाना हुए

पर्यटन-धर्मस्व एवं संस्कृति सचिव दिलीप जावलकर ने आज प्रातरूस्थानीय ब्यापारियों एवं तीर्थ पुरोहितों तथा हक-हकूकधारियों से बदरीनाथ महानिर्माण योजना के विषय में बैठक की तथा मास्टर प्लान के संबंध में लोगों की आपत्तियों एवं शंकाओं का निवारण भी किया। इस अवसर पर पर्यटन सचिव ने कहा कि बदरीनाथ महानिर्माण योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में लागू हो रही दूरदर्शी योजना है।

महानिर्माण योजना पर 424 करोड़ का बजट प्रस्तावित हैघ्,जिससे स्थानीय लोगों को लाभ पहुंचेगा तथा बदरीनाथ धाम में यात्री सुविधाओं में वृद्दि होगी। उन्होंने कहा कि बदरीनाथ मास्टर प्लान को केंद्र के सहयोग से लागू हो रही महत्त्वपूर्ण परियोजना है मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बदरीनाथ धाम को अधिक आध्यात्मिक नगरी के रूप में सुविधा-संपन्न बनाने हेतु मास्टर प्लान को लागू किये जाने हेतु प्रतिवद्धता जताई है।


उल्लेखनीय है कि यात्री सुविधाओं हेतु मास्टर प्लान तीन चरणों में प्रस्तावित है  पहले चरण में शेष नेत्र एवं बदरीश झील का सौंदर्यीकरण शामिल है। दूसरे चरण में बदरीनाथ धाम परिसर तथा आसपास के स्थलों का सोंदर्यीकरण तथा विस्तारीकरण  होना है तत्पश्चात तीसरे चरण में शेष नेत्र से बदरीनाथ मंदिर तक आस्थापथ निर्माण प्रस्तावित है। पर्यटन सचिव ने बदरीनाथ मास्टर प्लान को  आध्यात्मिक क्षेत्र बदरीनाथ धाम के विकास हेतु महत्त्वपूर्ण महायोजना बताया है।

इससे पहले पर्यटन सचिव ने बदरीनाथ मंदिर में दर्शन किये तथा ब्यवस्थाओं का भी निरीक्षण किया। बैठक के पश्चात पर्यटन सचिव ने मंदिर के निकटवर्ती स्थानों नारायण पर्वत, मातामूर्ति मार्ग, ब्रह्मकपाल, तप्तकुंड क्षेत्र, बामणी गांव मार्ग आदि स्थानों का पैदल चलकर अवलोकन किया। इस अवसर पर उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी.सिंह, उप जिलाधिकारी अनिल चन्याल,  धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल,बदरीनाथ नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी सुनील पुरोहित, नगर पंचायत अध्यक्ष अरविंद शर्मा, ब्यापार सभा के विनोद नवानी आदि मौजूद रहे।



विगत रविवार 18 अक्टूबर को पर्यटन सचिव ने तुंगनाथ में एशियन डेवलपमेंट बैंक की सहायता से चल रहे  अवस्थापना विकास कार्यों का निरीक्षण किया। रविवार को मंडल(चमोली) जड़ी-बूटी शोध- विकास संस्थान के कार्यों का भी निरीक्षण किया। सोमवार शायंकाल बदरीनाथ पहुंचकर बदरीनाथ मास्टर प्लान के संबंध में अधिकारियों से फीडबैक लिया। आज स्थानीय ब्यापारियों तीर्थ पुरोहितों एवं हक हकूक धारियों से वार्ता की।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पर्यटन सचिव आज शायं टिंबर सेण (नीति घाटी) रवाना हो गये है। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि  टिंबरसेण को उत्तराखंड का अमरनाथ कहा जाता है यहां बाबा अमरनाथ की तरह बर्फ के शिवलिंग के दर्शन होते है। पर्यटन सचिव मलारी घाटी में पर्यटन विकास की संभावनाओं का भी अवलोकन करेंगे 



Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: