Be Positive Be Unitedपुलिस मुख्यालय में राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजनDoonited News is Positive News
Breaking News

पुलिस मुख्यालय में राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन

पुलिस मुख्यालय में राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी मा0 राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, नई दिल्ली के निर्देशानुसार पुलिस कर्मियों को मानवाधिकार के प्रति संवेदनशील एवं जागरूक करने तथा मानवाधिकारों के प्रचार-प्रसार हेतु मानवाधिकार विषय पर पंद्रहवीं राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता (Debate Competition) का आयोजन आज दिनांक 10-11-2020 को पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में किया गया।

राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता हेतु चयनित विषय निम्न था :-
‘‘कोविड महामारी और लॉकडाउन को लागू करने में पुलिस की बढती भूमिका’’ ।

इससे पूर्व वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन प्रथम चरण में जनपद/पीएसी वाहिनीयों एवं द्वितीय चरण में परिक्षेत्र/पीएसी मुख्यालय स्तर पर कराया जा चुका है। द्वित्तीय चरण की प्रतियोगिता से कुमायूँ परिक्षेत्र से 06, गढवाल परिक्षेत्र से 06 एवं पी0ए0सी0 मुख्यालय से 06 कुल 18 प्रतिभागियों को राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता हेतु यचनित किया गया।

इससे पूर्व वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन प्रथम चरण में जनपद/पीएसी वाहिनीयों एवं द्वितीय चरण में परिक्षेत्र/पीएसी मुख्यालय स्तर पर कराया जा चुका है। द्वित्तीय चरण की प्रतियोगिता से कुमायूँ परिक्षेत्र से 06, गढवाल परिक्षेत्र से 06 एवं पी0ए0सी0 मुख्यालय से 06 कुल 18 प्रतिभागियों को राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता हेतु यचनित किया गया।

प्रतियोगिता का संचालन जया बलोनी, अपर पुलिस अधीक्षक, अपराध, पुलिस मुख्यालय द्वारा किया गया। प्रतियोगिता में अशोक कुमार, महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड मुख्य अतिथि व निर्णायक मण्डल में राम सिंह मीणा (महानिदेशक सेवानिवृत्त), अध्यक्ष एवं पूरन सिंह रावत, पुलिस महानिरीक्षक, सी0बी0सी0आई0डी0, उत्तराखण्ड तथा अजय जोशी, (उप महानिरीक्षक, सेवानिवृत्त) सदस्य रहे। उक्त विषय पर पक्ष एवं विपक्ष पर बोलने वाले प्रतिभागियों द्वारा अपने-अपने विचार रखे गये।

प्रतियोगिता की समाप्ति के पश्चात मुख्य अतिथि एवं निर्णायक समिति के सदस्यों द्वारा अपने-अपने विचार व्यक्त करते हुये प्रतिभागियों द्वारा प्रस्तुत विषय-वस्तु, प्रस्तुतिकरण एवं वाकपटुता की भूरी-भूरी प्रशंसा करते हुये उत्साहवर्धन किया गया। साथ ही वर्तमान परिवेश में मानवाधिकारों की महत्ता एवं पुलिस द्वारा उनके संरक्षण की आवश्यकता पर ध्यान आकर्षित किया गया।



निम्नलिखित प्रतिभागियों द्वारा क्रमशः प्रथम, द्वित्तीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया गयाः-
1- हे0का0 141 सुषमा रानी, 40वीं वाहिनी पीएस, प्रथम स्थान।
2- उ0नि0 ना0पु0 गगन मैठाणी, चमोली, द्वित्तीय स्थान।
3- का0 2613 प्रशांत रॉय, 46वीं वाहिनी पीएसी, तृतीय स्थान।

प्रथम, द्वित्तीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमश- रूपये 3000/-, 2000/- एवं 1000/- का नगद पारितोषिक तथा प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र एवं प्रतियोगिता में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले पीएसी, मुख्यालय टीम को चल बैजन्ती ट्राफी (Running Trophy) निर्णायक समिति के सदस्यों द्वारा प्रदान की गई।
प्रतियोगिता को दौरान ममता वोहरा, अपर पुलिस अधीक्षक, मानवाधिकार एवं अधिकारी तथा कर्मचारीगण मौजूद रहे।




Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: