पाकिस्तान के लोग पूछ रहे-क्या हम घास खाएं ! | Doonited.India

December 11, 2019

Breaking News

पाकिस्तान के लोग पूछ रहे-क्या हम घास खाएं !

पाकिस्तान के लोग पूछ रहे-क्या हम घास खाएं !
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्तान ने हाल ही में भारत के साथ व्यापार पर रोक लगा दी. उसने यह कदम जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को बेअसर बनाने के भारत सरकार के फैसले के बाद उठाया. हालांकि पाकिस्तान के इस कदम से वहां के लोग ही परेशान हैं.

इन लोगों का कहना है कि भारत के साथ व्यापार पर रोक से उनके लिए इस बार की ईद भी मुश्किल होने जा रही है. दरअसल इन लोगों का मानना है कि भारत से खाने के सामानों का आयात बंद होने के बाद पाकिस्तानी लोगों पर महंगाई की मार पड़ेगी.

इफ्तिखार नाम का एक प्याज विक्रेता पाकिस्तान सरकार के फैसले से काफी परेशान दिखा.

इफ्तिखार, प्याज विक्रेता”हम सब्जियों और प्याज के लिए भारत पर निर्भर थे, जो ईद पर खाना बनाने के लिए काफी जरूरी हैं.निश्चित तौर पर प्याज और बाकी सब (सब्जियों) की कीमतें और बढ़ेंगी. इमरान क्या चाहते हैं, हम क्या खाएं? घास?”

इस मामले पर नजमा नाम की एक पाकिस्तानी महिला ने कहा, ”पहले से ही हमारी रसोई पर बढ़ती महंगाई की मार पड़ रही थी. कमाई में कोई बढ़ोतरी नहीं है, लेकिन दूध, सब्जियां और मीट, सब कुछ महंगा हो गया है. अब (भारत के साथ) व्यापार पर रोक से रसोई के चीजों की कीमतें और बढ़ेंगी. मुझे नहीं पता कि हम इससे कैसे निपटेंगे.”

अशफाक, बैंकर”यह वाकई फीकी ईद होने जा रही है. ईद के बाद शादी के सीजन पर भी भारत से व्यापार पर रोक का बुरा असर पड़ेगा. मुझे समझ नहीं आता कि (हमारी) सरकार ने भारत के साथ व्यापारिक संबंध तोड़ते हुए क्या सोचा था”

बता दें कि पाकिस्तान प्याज, टमाटर और केमिकल्स सहित रोजमर्रा की जिंदगी में जरूरी कई चीजों के आयात के लिए भारत पर निर्भर रहा है. इसलिए पाकिस्तानी लोग भारत के साथ व्यापार पर रोक के अपनी सरकार के फैसले के साथ नहीं दिख रहे हैं.

पाकिस्तान में पहले से ही महंगाई आसमान छू रही थी, अब बकरीद से ठीक पहले इस कदम से पाकिस्तानियों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं.

भारत से कारोबारी रिश्ता तोड़ना पाकिस्तान (Pakistan) को भारी पड़ रहा है. पाकिस्तान में पहले से ही महंगाई (Inflation) आसमान छू रही थी, अब बकरीद (Bakrid) से ठीक पहले इस कदम से पाकिस्तानियों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. बकरीद से पहले प्याज, अदरकर, लहसुन और टमाटर के दाम बढ़ गए हैं. इन चीजों के दाम बढ़ने से पाकिस्तान की जनता की बकरीद फीकी हो सकती है.

पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक अदरक और लहुसन क्रमशः 400 रुपये व 320 रुपये किलो बिक रहा है, जबकि पहले यह 320 रुपये व 280 रुपये किलो बिक रहा था. वहीं तुरई 140 से 150 रुपये प्रति किलो, लौकी 120 रुपये प्रति किलो, बंदगोभी 80 रुपये प्रति किलो और शिमला मिर्च 120 रुपये प्रति किलो बिक रही है. इसके अलावा हरी मिर्च 100 रुपये किलो, चीन से आयात होने वाली अदरक थोक बाजार में 280 रुपये प्रति किलो, ईरान का लहसुन 240 रुपये किलो बेचा जा रहा है. कुछ दिन पहले 35 रुपये किलो बिकने वाला प्याज अब 50 रुपये किलो बिक रहा है. वहीं टमाटर की कीमतें भी बढ़कर 40 से 50 रुपये किलो हो गई है.

नाश्ते में लिया जाने वाला ब्रेड भी महंगा हो गया है. अब छोटी ब्रेड का पैकेट 35 रुपये, मध्यम साइज की ब्रेड 56 रुपये और बड़ी ब्रेड का पैकेट 100 रुपये हो गया है. चार पीस वाला बन 55 रुपये और रस्क का पैकेट 80 रुपये का हो गया है. वहीं चीनी की कीमत 72 रुपये प्रति किलो हो गई है.

पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स की तरफ से जारी किए गए महंगाई के आंकड़ों से पता चला है कि देश में रिकॉर्ड महंगाई हो गई है. पाकिस्तान के अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित महंगाई दर बढ़कर 10.34 फीसदी पर जा पहुंची है. पिछले महीने यही आंकड़ा 8.9 फीसदी रिकॉर्ड किया गया था. इसी अवधि में पिछले साल यह महंगाई दर 5.84 फीसदी रिकॉर्ड की गई थी. बीते कुछ महीनों में पेट्रोलियम प्रोडक्ट की कीमतों में लगातार तेजी के रुख और इसके बाद बिजली और गैस के टैरिफ में बढ़ोतरी से महंगाई दर आसमान छू रही है.

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: