रुद्रप्रयाग: आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्टेक होल्डर्स की क्षमता विकास कार्यशाला को संबोधित करते डीएम | Doonited.India

September 22, 2019

Breaking News

रुद्रप्रयाग: आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्टेक होल्डर्स की क्षमता विकास कार्यशाला को संबोधित करते डीएम

रुद्रप्रयाग: आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्टेक होल्डर्स की क्षमता विकास कार्यशाला को संबोधित करते डीएम
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

रुद्रप्रयाग:  जिला मिशन प्रबन्धन इकाई ने विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में दीनदयाल अन्त्योदय राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्टेक होल्डर्स का एक दिवसीय क्षमता विकास कार्यशाला का आयोजन किया।

 

बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद रुद्रप्रयाग में जिला मिशन प्रबन्धक इकाई ग्रामीण गरीब महिलाओं के सामाजिक आर्थिक सशक्तिकरण के लिए निरन्तर प्रयासरत है। यह इकाई ग्रामीण गरीब महिलाओं को विकासखण्ड के माध्यम से स्वयं सहायता समूहों के रूप में संगठित करने का कार्य कर रहा है, जिसके अन्तर्गत विकासखण्ड के गावों में गरीब परिवारों की महिलाओं के समूह पूर्व में संचालित योजना एसजीएसवाई के अन्तर्गत गठित थे, जिनकों नई योजना एनआरएलएम में पुनर्गठित करते हुए सम्मिलित किया गया है तथा इन सभी समूहों का ग्राम संगठन बनाया गया है।

इन सभी स्वयं सहायता समूहों तथा ग्राम संगठन के खाते नजदीकी बैंक शाखाओं में खोले गये हंै। बैंकों के माध्यम से समूह गठन के छः महीने पश्चात कैश, क्रेडिट लिमिट जैसे बैंक ऋण उपलब्ध कराकर स्वयं सहायता समूहों द्वारा चयनित गतिविधि को वित्तीय गतिशीलता प्रदान करती है। जिला मिशन प्रबन्धक इकाई स्वयं सहायता समूह के माध्यम से महिलाओं के सशक्तिकरण व उनकी आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से प्रस्तावित की गयी है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सरदार सिंह चैहान ने कहा कि जनपद में कुल समूहों की संख्या नौ सौ है, जिसमें से लगभग छः सौ समूहों के चार हजार दो सौ परिवार परियोजना की विभिन्न गतिविधियों में प्रतिभाग कर अपनी आजीविका संवर्द्धन कर रहे है।

परियोजना के अन्तर्गत समूहों के द्वारा चयनित विभिन्न गतिविधियों जैसे कि पशुचारा उत्पादन, रामदाना से निर्मित लड्डू व टिक्की, पहाड़ी अरसा, रोटना, हवन किट, हिलांस भोजनालय, भेड़ ऊन से निर्मित वस्त्र, फूलों की खेती, सब्जी उत्पादन, दुग्ध उत्पादन व दूध से बने पदार्थ व होम स्टे कार्य किये जा रहे हैं, जिससे स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं की आजीविका में बढ़ोत्तरी हो रही है। इस अवसर पर एपीडी रमेश कुमार, पीई एम एस नेगी, सीवीओ डाॅ रमेश सिंह नितवाल, जिला उद्यान अधिकारी योगेन्द्र सिंह, एसडीओ महिपाल सिंह सिरोही, केबीएसए एस एस वर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: