मोहन भागवत: सरकार में उम्मीदें पूरी करने का साहस | Doonited.India

October 22, 2019

Breaking News

मोहन भागवत: सरकार में उम्मीदें पूरी करने का साहस

मोहन भागवत: सरकार में उम्मीदें पूरी करने का साहस
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा, अनुच्छेद 370 को समाप्त करके वर्तमान सरकार ने एक बार फिर साबित किया कि उसमें राष्ट्रहित में जनता की इच्छाओं और आकांक्षाओं की पूर्ति करने का है साहस। संघ प्रमुख ने नागपुर में की ‘शस्त्र पूजा’।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर में विजयादशमी के मौके पर ‘शस्त्र पूजा’ की। इस मौके पर स्वयंसेवकों के पथ संचलन के बाद संघ के बैंड ने प्रस्तुति दी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) विजयदशमी के दिन अपना स्थापना दिवस कार्यक्रम भी मनाता है। संघ की स्थापना यूं तो वर्ष 1925 में 27 सितंबर को हुई थी, मगर आरएसएस अपना स्थापना दिवस हर साल विजयदशमी के दिन ही आयोजित करता है। इस वार्षिक समारोह में एचसीएल के संस्थापक शिव नादर, मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए। केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, जनरल (सेवानिवृत्त) वी. के. सिंह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस भी इस सामारोह में मौजूद रहे।

इस अवसर पर सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा कि अनुच्छेद 370 को समाप्त करके वर्तमान सरकार ने एक बार फिर साबित किया कि उसमें राष्ट्रहित में जनता की इच्छाओं और आकांक्षाओं की पूर्ति करने का साहस है।

संघ प्रमुख ने कहा कि सामाजिक हिंसा की कुछ घटनाओं को लिंचिंग बताकर, भारत की छवि को धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि संघ का नाम लिंचिंग की घटनाओं से जोड़ा गया जबकि संघ के स्वयंसेवकों का ऐसी घटनाओं से कोई संबंध नहीं है। दुनिया में जारी आर्थिक मंदी पर मोहन भागवत ने कहा कि देश पर इसका कोई असर न पड़े इसके लिए सरकार ने कई कारगर कमद उठाए हैं।

सरसंघचालक ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में भारत की सोच की दिशा में एक परिवर्तन आया है जो कुछ लोगों के लिए ना गवार गुजर रहा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : AGENCY

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: