Be Positive Be Unitedगर्व का पल: भारतीय नौसेना के युद्धपोत पर दो महिला अधिकारियों की होंगी तैनातीDoonited News is Positive News
Breaking News

गर्व का पल: भारतीय नौसेना के युद्धपोत पर दो महिला अधिकारियों की होंगी तैनाती

गर्व का पल: भारतीय नौसेना के युद्धपोत पर दो महिला अधिकारियों की होंगी तैनाती
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.



भारतीय नौसेना के इतिहास में पहली बार दो महिला अफसर सब लेफ्टिनेंट कुमुदिनी त्यागी और सब लेफ्टिनेंट रीति सिंह को वॉर शिप पर तैनात किया जाएगा। इन दोनों को हेलिकॉप्टर स्ट्रीम में ऑब्जर्वर (एयरबोर्न टैक्टिशियंस) के पद के लिए चुना गया है। नौसेना में अब तक महिला अफसरों को फिक्स्ड विंग एयरक्राफ्ट तक सीमित रखा गया था। इसके तहत, वॉर शिप पर एयरक्राफ्ट को टेकऑफ और लैंड कराया जाता है।

महिला अफसरों को जंगी जहाजों पर तैनाती की खबर ऐसे वक्त में सामने आई है, जब भारतीय वायुसेना ने भी महिला लड़ाकू पायलट को राफेल विमानों की फ्लीट को ऑपरेट करने के लिए शॉर्टलिस्ट किया है।इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अंबाला में भारतीय वायुसेना के राफेल स्क्वॉड्रन को पहली महिला फाइटर पायलट जल्द मिल जाएगी। वायुसेना की 10 महिला फाइटर पायलट प्रशिक्षण से गुजर रही हैं। इनमें से एक 17 स्क्वाड्रन के साथ राफेल जेट उड़ाएगी।10 सितंबर को अंबाला में 5 राफेल एयरक्राफ्ट को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। भारत ने फ्रांस से 36 राफेल जेट खरीदे हैं। इनमें पांच भारत आ चुके हैं। बाकी 2021 के आखिर तक भारतीय वायु सेना के हिस्सा होंगे।

सब लेफ्टिनेंट कुमुदिनी त्यागी और सब लेफ्टिनेंट रीति सिंह समेत 17 अफसरों को सोमवार को ‘ऑब्जर्वर’ के रूप में स्नातक होने पर ‘विंग्स’ से सम्मानित किया गया। यह कार्यक्रम कोच्चि में आईएनएस गरुड़ पर हुआ। इनमें 13 अफसर रेगुलर बैच से हैं और चार महिला महिला अफसर शॉर्ट सर्विस कमीशन से हैं। ये अफसर भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक बल के समुद्री टोही जहाजों और पनडुब्बी-रोधी जंगी जहाजों में तैनात होंगे। इस प्रोग्राम में रियर एडमिरल एंटनी जॉर्ज ने कहा था कि यह एक ऐतिहासिक अवसर है। इनमें पहली बार महिलाओं को हेलिकॉप्टर ऑपरेशन की ट्रेनिंग दी जा रही है। 91 वें रेगुलर कोर्स और 22 वें एसएससी ऑब्जर्वर कोर्स के अफसरों को एयर नेविगेशन, फ्लाइंग प्रोसिजर, एयर वॉरफेयर, एंटी-सबमरीन वॉरफेयर का प्रशिक्षण दिया गया।

नेवी के इस फैसले की खबर भी उसी दिन आई, जब यह पता चला कि वायुसेना ने भी बड़ा कदम उठाया है। राफेल लड़ाकू विमानों को उड़ाने के लिए भी एक महिला पायलट को चुना गया है। वह पायलट इस वक्‍त कन्‍वर्जन ट्रेनिंग से गुजर रही हैं। वह जल्‍द 17 स्‍क्‍वाड्रन का हिस्‍सा बन जाएंगी। करगिल युद्ध में पहली बार एयरफोर्स ने महिला पायलट्स को ऐक्टिव ऑपरेशंस का हिस्‍सा बनाया था। साल 2016 में सरकार ने महिलाओं को फाइटर फ्लाइंग की अनुमति भी दे दी थी। तब से अबतक 10 महिला पायलट्स कमिशन की गई हैं।




Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

%d bloggers like this: