प्राइवेट बसों पर बढ़ा किराया | Doonited.India

August 24, 2019

Breaking News

प्राइवेट बसों पर बढ़ा किराया

प्राइवेट बसों पर बढ़ा किराया
Photo Credit To HT
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

गढ़वाल मंडल समेत कुमाऊं के कुछ रूटों पर निजी बसों में सफर करना महंगा हो गया है। निजी बस कंपनियों ने सरकार के किराया मानक को दरकिनार कर मनमाने ढंग से किराया बढ़ा दिया है। परिवहन कंपनियों ने अपने पुराने किराये के हिसाब से 20 फीसदी की बढ़ोतरी की है। परिवहन विभाग के अफसरों को अभी तक किराया बढ़ने की भनक तक नहीं लगी। गढ़वाल मंडल में निजी बसें परिवहन का बड़ा माध्यम हैं। हर रोज हजारों यात्री इन बसों में सफर करते हैं। निजी बसों का किराया राज्य परिवहन प्राधिकरण (एसटीए) तय करता है। जुलाई 2018 में हुई एसटीए की बैठक में निजी बसों का किराया बढ़ाया गया।

इसमें पर्वतीय रूट का किराया 90 पैसे से बढ़ाकर एक रुपये नौ पैसे प्रति यात्री-प्रति किलोमीटर किया गया। बावजूद इसके निजी बस कंपनियां टिहरी गढ़वाल मोटर ऑनर्स कारपोरेशन (टीजीएमओ), गढ़वाल मोटर ऑनर्स यूनियन लिमिटेड (जीएमओयू), यातायात प्राइवेट लिमिटेड समेत नौ निजी परिवहन कंपनियों ने एक मई से गुपचुप तरीके से किराया बढ़ा दिया है। किराये में मनमानी बढ़ोतरी की गई है। इसे बढ़ाकर एक रुपये 70 पैसे प्रति यात्री प्रति किलोमीटर कर दिया गया है। इससे यात्रियों में नाराजगी है। निजी बस कंपनियां पहले भी तय किराये से ज्यादा वसूल रहे थे। एसटीए ने निजी बसों का किराया जुलाई 2018 में बढ़ाया।

तब पर्वतीय रूट पर 90 पैसे से बढ़ाकर एक रुपये नौ पैसे प्रति यात्री प्रति किमी किराया किया गया। जबकि निजी कंपनियां एक रुपये 40 पैसे ले रही थीं। इसलिए कंपनियों ने तब किराया नहीं बढ़ाया, लेकिन एक मई से किराया को एक रुपये 70 पैसे प्रति यात्री कर दिया। कंपनियों ने अपने पुराने रेट के अनुसार 20 फीसदी की बढ़ोतरी की है। जबकि एसटीए से तय किराया के हिसाब से देखें तो 55 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

ऋषिकेश से निजी बस का किराया—

स्टेशन पहले अब
चमोली 310 340
पौड़ी 170 210
रुद्रप्रयाग 200 240
उत्तरकाशी 200 230
श्रीनगर 150 190
कर्णप्रयाग 250 290
नई टिहरी 90 110

देहरादून से निजी बस का किराया—

स्टेशन पहले अब
उत्तरकाशी 220 240 (वाया सुवाखोली)
उत्तरकाशी 250 290 (वाया चंबा)
जोशीमठ 410 500
नई टिहरी 150 170
श्रीनगर 200 240
रुद्रप्रयाग 250 300
घनसाली 230 280
ऋषिकेश 50 60

हमारी नौ बस कंपनियों ने किराया 1.70 रुपये किया है और यह अब भी रोडवेज से कम है। ऐसे में जब रोडवेज घाटे का रोना रो रहा है, तो निजी बस मालिक कैसे फायदे में हो सकते हैं। हमारे बस मालिक किसी तरह बसें चला रहे हैं इसलिए हमने किराया बढ़ाया है।यदि निजी बस कंपनियां एसटीए से निर्धारित किराया से ज्यादा किराया ले रहे हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एसटीए ने हाल में कोई किराया बढ़ोतरी नहीं की है। किराया बढ़ाने की शिकायत हमारे पास नहीं आई। यदि ऐसा है तो संबंधित क्षेत्र के आरटीओ को जांच के आदेश दिए जाएंगे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: