Doonitedउत्तराखंड में आज से तीन दिन बारिश और बर्फबारी की संभावनाNews
Breaking News

उत्तराखंड में आज से तीन दिन बारिश और बर्फबारी की संभावना

उत्तराखंड में आज से तीन दिन बारिश और बर्फबारी की संभावना
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में सोमवार से तीन दिन बारिश और बर्फवारी की संभावना है। वहीं मैदानी क्षेत्रों में ओलावृष्टि और बारिश से ठंड बढ़ेगी। मौसम विभाग ने 8 जनवरी को प्रदेश के पहाड़ी क्षेत्रों में मध्यम से भारी बारिश और हिमपात की संभावना जताई है। इस दौरान चकराता, नैनीताल, मुक्तेश्वर आदि क्षेत्रों में एक से डेढ़ फीट तक बर्फवारी की संभावना है।

रविवार को देहरादून, मसूरी सहित अन्य क्षेत्रों में धूप खिलने से लोगों को ठंड से राहत मिली। मगर शाम होते-होते आसमान में हल्के बादल छाने से ठंडक बढ़ने लगी। वहीं मौसम विभाग ने 6 जनवरी से 9 जनवरी तक प्रदेश भर में ठंड बढ़ने की चेतावनी दी है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश भर में 6 जनवरी से 8 जनवरी तक बारिश और बर्फवारी की संभावना है। पहाड़ों में 1800 से 2500 मीटर तक के क्षेत्रों में मध्यम बारिश और बर्फवारी होगी। इस दौरान रास्ते बंद हो सकते और रात में ठंड अधिक होगी।8 जनवरी को अधिक बारिश और बर्फवारी की संभावना है। इस दिन प्रदेश के कुछ उच्च इलाकों में भारी बर्फवारी हो सकती है।

वहीं चकराता, मुक्तेश्वर, नैनीताल, धनोल्टी आदि क्षेत्रों में 1 से डेढ़ फीट बर्फवारी हो सकती है। नैनीताल, देहरादून, ऊधमसिंहनगर, हरिद्वार के कुछ क्षेत्रों में ओलावृष्टि की भी संभावना है। देहरादून में सोमवार रात से बारिश शुरू होने की संभावना है। मसूरी में बारिश के साथ बर्फवारी भी हो सकती है। 7 से 9 जनवरी तक प्रदेश भर में शीत दिवस की चेतावनी है। गढ़वाल मंडल में 9 जनवरी को मौसम सामान्य रहेगा, लेकिन कुमाऊं मंडल में 9 जनवरी को भी बारिश के आसार हैं।

मसूरी में बर्फबारी का मजा लेने उमड़े पर्यटकों को रातभर परेशानी झेलनी पड़ी। बर्फ पर पाला पडऩे के बाद सड़कें खतरनाक हो गईं, जिन कारण करीब दो सौ वाहन 12 घंटे तक फंसे रहे। पुलिस और आइटीबीपी के जवानों ने कड़ी मशक्कत कर वाहनों को निकाला।

बर्फबारी से मसूरी-धनोल्टी मार्ग पर कई स्थानों पर सड़कों पर बर्फ की चादर बिछ गई थी, जिस पर रात को पाला पडऩे के बाद फिसलन बढ़ गई और वाहन फिसलने लगे। बाटाघाट-जेपी बैंड के बीच घंटों रेस्क्यू अभियान चलाया गया। आइटीबीपी के डिप्टी कमांडेंट कमल मेहरा और उमेश नौटियाल ने बताया कि आइटीबीपी के 20 जवानों के साथ वह विगत रात्रि यहां पहुंच गए थे और रेसक्यू आपरेशन शुरू किया। शून्य के करीब तापमान में पूरी रात सड़क से बर्फ हटाने का कार्य जारी रहा और वाहन निकाले गए। रेस्क्यू ऑपरेशन रविवार दोपहर तक चला, जिसमें बर्फ में फंसे दो सौ से अधिक वाहनों को वहां से निकाला गया। उन्होंने बताया कि बर्फ में फंसे वाहनों में सवार पर्यटकों को खाना और पानी भी उपलब्ध करवाया गया।

रविवार दोपहर बाद धनोल्टी-चंबा मार्ग पर वाहनों का आवागमन फिर से शुरू हो पाया। वहीं मसूरी-चंबा मोटर मार्ग पर भी दोनों ओर से दो जेसीबी बर्फ हटाने में लगी रहीं और रविवार शाम तक यहां पर फिर से यातायात सुचारू हो पाया। एसडीएम मसूरी वरुण चौधरी ने बताया कि मसूरी-कैम्पटी मार्ग पर भी लगभग आधा दर्जन बसें व अन्य वाहन फंस गए थे, जिनको शाम तक वहां से रेस्क्यू किया जा सका। उन्होंने बताया कि प्रशासन की ओर से मसूरी-धनोल्टी मार्ग में फंसे पर्यटकों को खाने के पैकेट व पानी वितरित किया गया। लाइब्रेरी-कंपनी गार्डन मार्ग अभी भी यातायात के लिए बंद है। लाइब्रेरी-किंक्रेग मार्ग पर दोपहर बाद रुक-रुक कर जाम की स्थिति रही।

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agency

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: