केरल में निपाह वायरस ने दी दस्तक | Doonited.India

September 20, 2019

Breaking News

केरल में निपाह वायरस ने दी दस्तक

केरल में निपाह वायरस ने दी दस्तक
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

केरल में एक बार फिर से निपाह वायरस ने दस्तक दी है, जिसके बाद केंद्र और केरल सरकार हाई अलर्ट पर हैं। केंद्र सरकार ने केरल में इस वायरस की रोकथाम के लिए विशेषज्ञों की एक टीम भेजी है। इस वायरस से निपटने के लिए केरल सरकार भी लोगों को जागरूक करने के काम में लगी है।

केरल में एक बार फिर से निपाह वायरस ने दस्तक दी है, जिसके बाद केन्द्र और केरल सरकार अलर्ट पर है। केन्द्र सरकार ने केरल में इस वायरस की रोकथान के लिये विशेषज्ञो की एक टीम भेजी है, तो केरल सरकार भी लोगों को जागरुक करने के काम में लगी है ताकि इस वायरस से निपटा जा सके।

केरल में एक 23 वर्षीय छात्र के निपाह वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि के बाद केन्द्र ने मंगलवार को एक छह-सदस्यीय टीम को केरल भेज दिया है इस टीम में एक महामारी विशेषज्ञ भी शामिल है। पुणे स्थित राष्‍ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) में छात्र के रक्त के नमूने की जांच की गई जिसमें निपा के संक्रमण की पुष्टि हुई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने निपा वायरस से निपटने के उपायों पर चर्चा करने के लिये केरल की स्वास्थ्य मंत्री से बात की और केन्द्र की तरफ से राज्य को हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया। केरल सरकार ने संक्रमितों की पहचान, निगरानी आदि व्यवस्था के लिए कई कदम उठाए हैं। कई संस्थानों में त्वरित कार्रवाई टीमें बनायी गयी है । इसके अलावा मेडिकल कॉलेज एर्नाकुलम में एक हेल्प डेस्क भी बनाया गया है।

केन्द्र ने एक महामारी विशेषज्ञ सहित 6 सदस्यों की केंद्रीय टीम को केरल भेजा है जो कि संदिग्ध मरीजों की  पहचान करेगी और उनके लिए अलग वार्ड की सुविधाओं की समीक्षा करेगी । इसके अलावा एक नियंत्रण कक्ष और राष्ट्रीय बीमारी नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के स्ट्रैटजिक हेल्थ ऑपरेशन सेंटर (एसएचओसी) को सक्रिय किया गया है जिसका फोन नंबर 011-23978046 है।

इससे पहले के घटनाक्रम में केरल में 23 वर्षीय छात्र को निपा वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के बाद उसके संर्पक में आने वाले 86 अन्य लोगों को मेडिकल निगरानी में रखा गया है। मरीज का इलाज करने वाली दो नर्सों ने गले में दर्द और बुखार की शिकायत की है । दोनो को ही निगरानी में रखा गया है ।

केरल की स्वाथ्य मंत्री केके शेलजा ने बताया कि पुणे स्थित राष्‍ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) में छात्र के रक्त के नमूने की जांच की गई जिसमें निपाह के संक्रमण की पुष्टि हुई है। उन्होने कहा कि संक्रमित छात्र की हालत स्थिर है और उसे वेंटीलेटर जैसी किसी जीवन रक्षक प्रणाली पर नहीं रखा गया है।

गौरतलब है कि पिछले साल मई में निपा वायरस से केरल में 17 लोगों की जान गई थी । जिसमें कोझीकोड में 14 और पड़ोसी मलप्पुरम में तीन लोग शामिल थे। निपाह वायरस का नाम मलेशिया के एक गांव सुनगई निपा पर रखा गया है जहां पहली बार इस बीमारी का पता चला था। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से पैनिक नहीं होने की अपील की है। साथ ही लोग सतर्क रहें सरकार इस बीमारी को नियंत्रित करने के लिए सभी जरुरी कदम उठा रही है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: