August 04, 2021

Breaking News
COVID 19 ALERT Middle 468×60

पूजा कौल का स्टार्टअप गधे का दूध नाम दिया “आर्गेनिको”

पूजा कौल का स्टार्टअप गधे का दूध नाम दिया “आर्गेनिको”

खुद का स्टार्टअप और उसे नाम दिया आर्गेनिको

हम जीवन में गधों को कोई महत्व नहीं देते है और उस शख्स को गधे की संज्ञा दी जाती है जो कोई काम नहीं करता है। यानी की गधा हमारे लिए यूजलेस और नाकारा है लेकिन ये हमारे और आपके लिए हो सकता है, पूजा कौल के लिए नहीं।

स्टार्टअप गधे के दूध से ब्यूटी प्रोडक्ट बनाता है

पूजा कौल ने गधो का महत्व समझ और ये जाना की उनका दूध बहुत अधिक फायदेमंद होता है। उन्होंने इस क्षेत्र में जानकारी जुटाई और खोल दिया खुद का स्टार्टअप और उसे नाम दिया “आर्गेनिको”।

ये स्टार्टअप गधे के दूध से ब्यूटी प्रोडक्ट बनाता है और बेचता है।

ये अनोखा आईडिया आया पूजा कौल को, जो सोलापुर महाराष्ट्र राज्य के रहने वाली है। पूजा ने जब अपनी पढ़ाई पूरी की तो उसके बाद उन्हें घर में ही रहने का मन हुआ। इसके लिए उनके पास दो आप्शन थे की एक तो वो सरकारी नौकरी करे या फिर अपने सपनो की तरफ भागे।

पूजा ने खुद का बिजनस करने का विचार किया और इस क्षेत्र में रिसर्च किया। उन्हें पता चला की मिस्र की रानी बहुत सुंदर थी और इसकी वजह थी वो गधे के दूध का इस्तेमाल करती थी।

यही से पूजा को यह Business Idea आया और उन्होंने अपने स्टार्टअप को नाम दे दिया “ओर्गैनिको”। इस स्टार्टअप का दावा है की वो शत-प्रतिशत शुद्ध चीजे बेच रहे है।

Read Also  Finance Minister Nirmala Sitharaman participated in the Global Investors Roundtable

गधे की दूध के फ़ायदे – Donkey Milk Benefits


पूजा ने कहा की “उन्होंने जब रिसर्च किया तो पता चल की गधे के दूध में विटामिन सी, ए, बी और ओमेगा 3 जैसे महत्वपूर्ण तत्व होते है और ये सभी तत्व त्वचा को कोमल और सुंदर बनाने के लिए बहुत आवश्यक है।

चेहरे पर आने वाले दागो को भी दूर करने में सहायक है।

कैसे होता है काम –

पूजा ने उन किसानो से संर्पक किया जो गधे का पालन करते थे और उनका दूध निकालते थे। इसकी कीमत लगभग तीन हजार रुपये प्रति लीटर होती है।

दो हजार रुपये लीटर के हिसाब से दूध खरीदना चालू किया

पूजा ने किसानो से बात की और दो हजार रुपये लीटर के हिसाब से दूध खरीदना चालू किया और इसके बाद उससे ब्यूटी प्रोडक्ट बनाने की शुरुआत की।

पूजा इस दूध से तैयार किया गया साबुन, चारकोल और हनी सोप बेचती है। वह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीको को आजमाती है और दोनों से लगभग उनके पास ग्राहक आते है। पूजा ने कहा की उनका टारगेट 25 से 50 साल के उम्र तक की महिलाएं है।

Read Also  South African government to allow women to have multiple husbands

वो महिलाये जो की खुद को सुंदर बनाने के लिए बहुत पैसा खर्च करती है लेकिन सही उत्पाद नहीं मिल पाता है।

दस किसान मिले और फिर पूजा उनसे दूध लेना शुरू किया

पूजा ने कहा की शुरुआत में उन्होंने उन किसानो से सम्पर्क किया जो गधे पालते थे और उन्हें ऐसे लगभग दस किसान मिले और फिर पूजा उनसे दूध लेना शुरू किया। दरअसल उनका कहना है की वो एक गधे का दूध रोज नहीं निकलवाती है। इससे गधा कमजोर होने लगता है और कही ना कही उसके बच्चो को भी बराबर पोषण नहीं मिल पाता है।

पूजा का कहना है की वो आगामी साल तक ये प्लान बना रही है की लगभग सौ गधा पालक किसानो के साथ उनका व्यवसाय चले और वो आर्गेनिक के क्षेत्र में कुछ बड़ा करे। बाकी भी ऐसे उत्पाद है जिन्हें गधे के दूध से बनाया जा सकता है।

नहीं था आसान-

पूजा ने कहा की ये आसान नहीं था क्योकि एक महिला होने के नाते ऐसा करना समाज को सही नहीं लगता है। शुरू शुरू में जब वो सुबह दूध लेने जाती थी तो उन्हें खुद बहुत असुरक्षित महसूस होता था।

पूजा कहती है की वो अगर पुरुष होती तो उन्हें ये डर नहीं होता। लेकिन बाद में धीरे धीरे डर निकलने लगा और वो आगे बढती चली गई। जब वो अपना आईडिया किसी की बताती थी तो लोग हसते थे लेकिन बाद में इसके फायदे बताने पर हर कोई उनके साथ हो लेता था।

पूजा के साथ उनके क्लासमेट ऋषभ यश तोमर भी है।

Read Also  ED Summons ex-minister Anil Deshmukh

पूजा ने कहा की छोटे शहरो में उद्यमियों की बढ़ावा दिया जाना चहिये

पूजा ने कहा की छोटे शहरो में उद्यमियों की बढ़ावा दिया जाना चहिये क्योकि कही ना कही सकारात्मक सन्देश जाता है। आज पूजा बहुत खुश है और उन्हें तरक्की भी मिल रही है।

पूजा को कई सारे सम्मान भी मिले है। यहाँ से मिलने वाली राशि को भी पूजा अपने इसी काम में लगा देती है और इसे आगे ले जाने की कोशिश करती है।

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: