प्लान इंडिया गर्ल चेंजमेकर्स ने ग्राम पंचायतों का काम संभाला | Doonited.India

October 22, 2019

Breaking News

प्लान इंडिया गर्ल चेंजमेकर्स ने ग्राम पंचायतों का काम संभाला

प्लान इंडिया गर्ल चेंजमेकर्स ने ग्राम पंचायतों का काम संभाला
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

हल्द्वानी: भारत के 10 राज्यों की प्लान इंडिया की गर्ल चेंजमेकर्स ने इंटरनेशनल डे ऑफ द गर्ल चाइल्ड- आईडीजी (अंतरराष्ट्रीय कन्या दिवस) के मौके पर आज नई दिल्ली में 22 राजनयिक मिशनों के राजदूतों और उच्चायुक्तों की भूमिका निभाई। उत्तराखंड के कई जिलों में लड़कियों ने महत्वपूर्ण ग्राम पंचायतों और सरकारी पदों को भी संभाला। हर साल, 11 अक्टूबर को, प्लान के समर्थन वाले समुदायों से लड़कियां अधिकारसंपन्न और महत्वपूर्ण पदों को अपने हाथों में लेती हैं और लड़कियों की आवाज, ताकत और नेतृत्व को सुने जाने के लिए अपनी पुरजोर आवाज उठाती हैं ताकि ‘गर्ल्स गैट इक्वल’ कैम्पेन के तहत, जो कि वैश्विक स्तर पर की गई नवीनतम पहल है, लड़कियों की ताकत, सक्रियता और नेतृत्व को प्रोत्साहन दिया जा सके।

वरिष्ठ पदों से लड़कियों और युवतियों के लिए समान अवसर उपलब्ध कराने की आवश्यकता को और अधिक मजबूती से रेखांकित करने में मदद मिलती है। साथ ही, उन्हें फैसले लेने की अपनी क्षमता को प्रदर्शित करने तथा यह सुनिश्चित करने कि वे भी खुशहाल, स्वस्थ और सुरक्षित माहौल में सीख सकती है, नेतृत्व प्रदान कर सकती हैं और यह भी कि उनकी आवाज सुनी जाए, और समस्याओं पर ध्यान दिया जाए।

गर्ल चेंजमेकर, कुमकुम नई दिल्ली में न्यूजीलैंड के दूतावास का काम संभालेंगी। वह सक्रिय रूप से भारत में न्यूजीलैंड के उच्चायुक्त के पद पर काम करेंगी और एक दिन के लिए अपनी भूमिका निभाएंगी, बैठकों की अध्यक्षता करेंगी और मुख्य कर्मचारियों से मिलेंगी।

कुमकुम लड़कियों के अधिकारों की वकालत करती रही हैं। वह प्लान इंडिया की श्बाल विधान सभाश् (चिल्ड्रन्स लेजिस्लेटिव असेंबली) में विधायक के रूप में चुनी गई थीं और गृहमंत्री का काम संभाला था। उसके बाद से वह बच्चों और युवाओं से जुड़ी समस्याओं को लेकर सक्रिय रूप से आवाज उठाती रही हैं।

टेकओवर के बारे में बताते हुए कुमकुम ने कहा, ‘‘सामाजिक मुद्दों पर लोगों को जागरूक करने के अलावा, हमारे विचार भी उन्हें सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। जाति और लिंग के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए और लड़कियों को राजनीति, खेल, शिक्षा में आगे बढ़ने के समान अवसर दिए जाने चाहिए। उन्हें भी रोजगार के समान अवसर मिलने चाहिए। लड़के और पुरुष महत्वपूर्ण सहयोगी हैं और उन्हें लड़कियों के प्रति सकारात्मक और सम्मानजनक रवैया रखना चाहिए।’’गर्ल चेंजमेकर, विजयलक्ष्मी, नई दिल्ली में इजराइल दूतावास का काम संभालेंगी। वह सक्रिय रूप से राजदूत के तौर पर काम करेंगी और एक दिन के लिए अपनी भूमिका निभाएंगी, बैठकों की अध्यक्षता करेंगी और मुख्य कर्मचारियों से मिलेंगी।
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: