Doonitedप्रदीप ग्यावली: भारत नहीं, हम चाहते हैं इस्‍तीफा, नेपाल में प्रचंड विरोधNews
Breaking News

प्रदीप ग्यावली: भारत नहीं, हम चाहते हैं इस्‍तीफा, नेपाल में प्रचंड विरोध

प्रदीप ग्यावली: भारत नहीं, हम चाहते हैं इस्‍तीफा, नेपाल में प्रचंड विरोध
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली का उनकी पार्टी से लेकर सरकार तक में भी विरोध शुरू हो गया है. केपी ओली ने हाल ही में ये आरोप लगाया था कि भारत उन्हें प्रधानमंत्री पद से हटाना चाहता है इसलिए नई दिल्ली और काठमांडू में इसकी साजिश रची जा रही है. हालांकि ओली के इस बयान पर उन्ही की सरकार में मौजूद मंत्री और खुद नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री ने सवाल उठाए है.

दरअसल नेपाल के पीएम केपी ओली के इस बयान को लेकर उनकी पार्टी के ही सहयोगी और पूर्व पीएम पुष्प कमल दहल (प्रचंड) ने पलटवार किया है. प्रचंड ने कहा कि पीएम ओली इस बात का सबूत पेश करें कि उनके खिलाफ भारत साजिश रच रहा है. प्रचंड ने आगे कहा कि भारत नहीं बल्कि वो लोग खुद ओली का इस्तीफा चाहते हैं.

भारत के साथ संबंधों पर नहीं होगा असर

वहीं प्रदीप ग्यावली ने भी भारत की साजिश वाले बयान को लेकर कहा कि भारत से हमारा दोस्ताना संबंध है. ग्यावली नेपाल की ओली सरकार में विदेश मंत्री हैं. उन्होंने साफ-साफ कहा कि नेपाल और भारत के सीमा विवाद से इन दोनों देशों की दोस्ती पर कोई असर नहीं पड़ेगा. ग्यावली का कहना है कि नेपाल सरकार भारत के साथ संबंधों के बारे में चिंतित है और सीमा संशोधन के मामले का भारत के साथ संबंधों पर प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए.

दरअसल नेपाल के पीएम ने देश के नए नक्शे से संबंधित संशोधन संसद में पास कराया है, जिसमें भारत के हिस्सों को भी नेपाल का हिस्सा बताया है. इसके बाद से केपी शर्मा ओली भारत के खिलाफ माहौल बनाते हुए देश में उपजी राष्ट्रवाद की भावना का इस्तेमाल कर सत्ता में बने रहना चाहते हैं. जबकि उनकी गलत नीतियों को लेकर उनकी पार्टी में ही उनका विरोध हो रहा है.

प्रचंड बोले- ओली सिर्फ क्रेडिट के लिए करते हैं काम

नेपाल की सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के चेयरपर्सन पुष्प कमल दहल ओली सरकार के कामकाज से खफा बताए जा रहे हैं. मालूम हो कि NCP के दो चेयरपर्सन हैं, केपी ओली इस पद को पुष्प कमल के साथ साझा करते हैं. पुष्प कमल ने पुष्प कमल ने एक बैठक में साफ शब्दों में कहा था कि ओली सिर्फ क्रेडिट लेने के लिए काम करते हैं, पार्टी और देश के लिए नहीं. मालूम हो कि आज कल केपी ओली पार्टी की हाई लेवल बैठकों में भी हिस्सा नहीं ले रहे हैं, इससे भी पार्टी में उनके खिलाफ गुस्सा बढ़ता जा रहा है.




Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : TV9

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: