Home · National News · World News · Viral News · Indian Economics · Science & Technology · Money Matters · Education and Jobs. ‎Money Matters · ‎Uttarakhand News · ‎Defence News · ‎Foodies Circle Of Indiaजांच रिपोर्ट के बिना चारधाम यात्रा में नो एंट्रीः महाराजDoonited News
Breaking News

जांच रिपोर्ट के बिना चारधाम यात्रा में नो एंट्रीः महाराज

जांच रिपोर्ट के बिना चारधाम यात्रा में नो एंट्रीः महाराज
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


कोरोना के कारण बीते साल चारधाम की यात्रा महज एक औपचारिकता बनकर रह गई थी। देश व प्रदेश में एक बार फिर से कोरोना के बढ़ते कहर ने इस विश्व विख्यात चार धाम यात्रा के भविष्य पर सवाल खड़े कर दिए हैं। महाकुंभ पर कोरोना का ग्रहण लगने के बाद अब इसी माह से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा पर भी इसका असर पड़ना तय हो गया है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अभी से यह साफ कर दिया है कि चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना जांच रिपोर्ट लाने पर ही एंट्री मिल सकती है बिना कोविड जांच के किसी को भी चार धाम यात्रा पर नहीं जाने दिया जाएगा।

Read Also  उत्तराखंड : चारधाम परियोजना से घट जाएगी यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ की दूरी


उल्लेखनीय है बीते कल ही सतपाल महाराज द्वारा कहा गया था कि चारधाम यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं से सख्ती से कोविड़ 19 का पालन कराया जाएगा। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ केंद्र की गाइडलाइन भी लागू होगी। उल्लेखनीय यह भी है कि वर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पहले जांच रिपोर्ट की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया था लेकिन जब कोरोना के मामले बढ़ते दिखे तो 72 घंटे के अंदर कराई गई कोविड जांच रिपोर्ट साथ लाने की अनिवार्यता लागू कर दी गई। जिसके कारण कुंभ में इस बार पहले जैसी भीड़ व चहल-पहल नहीं दिख रही है।

Read Also  Mata Naina Devi Temple


कोविड़ की दूसरी लहर ने जिस तरह महाकुंभ की रौनक को फीका कर दिया है वैसे ही चारधाम यात्रा पर भी कोविड़ की छाया पड़ती दिख रही है। चारधाम यात्रा में सीमित श्रद्धालुओं की अनुमति देने की बात तो पहले ही तय हो चुकी थी लेकिन अब जांच रिपोर्ट की अनिवार्यता इस बार चारधाम यात्रा को प्रभावित करेगी। कोरोना के कारण राज्य का पर्यटन व्यवसाय बीते साल से ही ठप पड़ा है। चारधाम के लिए एडवांस बुकिंग कराने वाले श्रद्धालू अब नियम-शर्तों और बढ़ते कोरोना के कारण कितनी संख्या में आते हैं यह समय ही बताएगा। बीते साल कोरोना संक्रमण के कारण सिर्फ चार लाख के करीब ही श्रद्धालू आए थे। जबकि इससे पूर्व के साल में यह संख्या 32 लाख से अधिक रही थी। पर्यटन व चारधाम यात्रा का हाल अगर बीते साल जैसा ही रहा तो यह राज्य के लिए आर्थिक तौर पर बड़ा झटका होगा।

Read Also  मैं ही शिव, मैं ही पार्वती

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

doonited mast
%d bloggers like this: