Doonitedनैनीताल: प्रबन्धन और नियोजन सफल कार्यप्रणाली एवं सफल जीवन के लिए आवश्यकः योगेश मिश्रा News
Breaking News

नैनीताल: प्रबन्धन और नियोजन सफल कार्यप्रणाली एवं सफल जीवन के लिए आवश्यकः योगेश मिश्रा 

नैनीताल: प्रबन्धन और नियोजन सफल कार्यप्रणाली एवं सफल जीवन के लिए आवश्यकः योगेश मिश्रा 
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
नैनीताल:  प्रबन्धन तथा नियोजन सफल कार्य प्रणाली एवं सफल जीवन के लिए आवश्यक है। जीवन के हर क्षेत्र में बेहतर प्रबन्धन हमें ऊॅचाई पर ले जाता है और सफलता के द्वार खोलता है। यह विचार डाॅ. रघुनन्दन सिंह टोलिया उत्तराखण्ड प्रशासन अकादमी में आयोजित राज्य सम्मिलित सिविल प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा में चयनित अधिकारियों के आधारभूत प्रशिक्षण के तहत उप निदेशक सूचना योगेश मिश्रा द्वारा शीर्षक ’’मीडिया प्रबन्धन एवं प्रशासन’’ विषय पर आयोजित वार्ता के दौरान व्यक्त की है।

प्रशिक्षण के दौरान श्री मिश्रा ने कहा कि सृष्टि के सृजन के साथ ही सूचना और उसके बाद संचार की व्यवस्था कायम हुई। बदलते दौर में सूचना का स्वरूप तो बदला नहीं लेकिन उसके सम्प्रेषण एवं संचार के तौर तरीके समय के साथ बदलते गए। आज के दौर में सूचना का सम्प्रेषण हाईटेक होकर आॅनलाईन हो गया है। कायनात में आज बेशुमार सूचनाएं हमारे चारो ओंर फेली हुई हैं। आॅख बन्द होने या निद्रा की अवस्था में भी सूचनाऐं हमारे दरवाजे पर व दिलो दिमाग पर दस्तक देती रहती हैं।

अनादि काल से आज तक दुनिया का हर आदमी नई-नई सूचनाओं को जानने के लिए उत्सुक व तत्पर रहता है, वहीं सूचनाओं के अभिलेखीकरण व संकलन का कार्य करता है। सूचना विहीन जीवन से समाज, राष्ट्र एवं व्यक्तित्व की परिकल्पना भी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि जन-मानस तक शासकीय सूचनाएं स्वस्थ तरीके से पहुॅचाने के लिए मीडिया प्रबन्धन अत्यावश्यक है।

उन्होंने कहा कि मीडिया प्रबन्धन कोई कठिन कार्य नहीं है, बल्कि हमारा व्यवहार एवं उत्तम जन सम्पर्क, कार्य कुशलता, तत्परता उत्तम मीडिया प्रबन्धन के स्तंभ हैं। लोक तंत्रीय व्यवस्था में मीडिया को चैथा स्तम्भ माना गया है तथा मीडिया आम आदमी की आवाज है।

श्री मिश्रा ने अपने वक्तव्य में प्रिंट मीडिया के विभिन्न प्रकारों, समाचार पत्रों के पंजीकरण, शीर्षक आवंटन, शासकीय एवं व्यवसायिक विज्ञापनों, समाचार पत्रों के प्रसार, डीएवीपी, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार, सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के क्रिया-कलापों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने आॅडियो मीडिया (श्रव्य मीडिया), विजुअल मीडिया (दृश्य मीडिया), आॅडियो विजुअल मीडिया (श्रव्य-दृश्य मीडिया), प्रिंट मीडिया, इलैक्ट्राॅनिक मीडिया तथा पोर्टल मीडिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने प्रेस काउंसिल आॅफ इण्डिया की कार्य प्रणाली के बारे में विस्तार से बताया तथा प्रेस एक्ट के विभिन्न पहलुओं पर भी चर्चा की।

उन्होंने सूचनाओं के संकलन एवं सम्प्रेषण के बारे में भी प्रतिभागियों को बताया। प्रशिक्षण में अकादमी के संयुक्त निदेशक नवनीत पाण्डे, डे आॅफीसर आलोक उनियाल, सन्दीप कुमार सहित प्रशिक्षु प्रशान्त कुमार, सुधीर कुमार, निर्मल जोशी, सुमित पाण्डे, आशिन जोशी, हर्षवर्धनी सुमन, विपुल कुमार, विनोद कुमार आदि प्रशिक्षणार्थी मौजूद थे। गौरतलब है कि डाॅ.रघुनन्दन सिंह टोलिया प्रशासन अकादमी में उत्तराखण्ड राज्य सम्मिलित राज्य सिविल प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2016 के चयनित 48 अधिकारियों का आधारभूत प्रशिक्षण विगत 23 दिसम्बर से संचालित किया जा रहा है।

इस विशेष प्रशिक्षण सत्र में नव चयनित 6 उप जिलाधिकारी, 17 पुलिस उपाधीक्षक, 12 वित्त लेखाधिकारी, 2 राज्यकर अधिकारी, 2 होमगार्ड अधिकारी, 1 जेल अधीक्षक, 8 सहायक नगर आयुक्तध्अधिशाषी अधिकारी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: