मिथिलेष ने टाटा नैनो को बना दिया हेलिकॉप्टर | Doonited.India

August 26, 2019

Breaking News

मिथिलेष ने टाटा नैनो को बना दिया हेलिकॉप्टर

मिथिलेष ने टाटा नैनो को बना दिया हेलिकॉप्टर
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

टाटा नैनो को हेलिकॉप्टर का अवतार देने में मिथिलेष और उसके भाई को सात महीनों का समय लग गया. साथ ही इसको डिजाइन करने में उन्हें सात लाख रुपए का खर्च भी आया. बिहार के छपरा का रहने वाला मिथिलेष प्रसाद हेलिकॉप्टर को उड़ाने और डिजाइन करने का सपना पूरा नहीं कर सका, लेकिन उसने अपनी टाटा नैनो कार को ही हेलिकॉप्टर का रूप दे दिया. अब उसकी हेलिकॉप्टर जैसी दिखने वाली ये कार छपरा के लोगों के आकर्षण का केंद्र बन चुकी है.

बनियापुर के सिमरी गांव से ताल्लुक रखने वाला मिथिलेष पाइप फिटिंग का काम करता है. मिथिलेष ने अपनी टाटा की नैनो कार को एक बेसिक हेलिकॉप्टर के रूप में परिवर्तित कर दिया. हालांकि यह कार हेलिकॉप्टर की तरह उड़ान नहीं भर सकती है, लेकिन इसमें हेलिकॉप्टर की तरह रोटर, टेल और टेल रोटर लगा हुआ है.

Picture ANI
Picture ANI

कार के साइड पैनल में लगे रोटर में रंगीन एलईडी लाइट भी लगी हुई हैं. टाटा नैनो को हेलिकॉप्टर का अवतार देने में मिथिलेष और उसके भाई को सात महीनों का समय लग गया. साथ ही इसको डिजाइन करने में उन्हें सात लाख रुपए का खर्च भी आया. महज 12वीं क्लास तक पढ़ाई करने वाले मिथिलेष का सपना था कि वह हेलिकॉप्टर डिजाइन करें. हालांकि उनका सपना पूरा नहीं हुआ तो उन्होंने अपना कार को ही हेलिकॉप्टर का रूप देकर सपना पूरा करने की कोशिश की है. वह हेलिकॉप्टर उड़ा भले ही न पाए हों, लेकिन सड़कों पर हेलिकॉप्टर चलाने का सपना जरूर साकार हो गया.

अपने डिजाइन को लेकर मिथिलेष ने कहा, “यह मेरा बचपन का सपना था कि मैं अपना एक हेलिकॉप्टर बनाऊं और उड़ाऊं. लेकिन मेरा बैकग्राउंड इतना मजबूत नहीं था इसलिए मैंने एक ऐसी कार बना दी जो बिलकुल हेलिकॉप्टर की तरह दिखती है.

7 महीने की कठिन मेहनत के बाद पंख लगाकर हेलिकॉप्टर की डिजाइन में तैयार की गई यह कार (Nano Car helicopter) इन दिनों आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। युवक ने बताया कि उसने अपने इस सपने को पूरा करने के लिए अपनी सारी बचत खर्च कर दी है।

कार (Nano Car helicopter) के अंदर उन्होंने ऐसे बटन लगवाए जैसे हेलीकॉप्टर में होते हैं। गाडी भी बटन दबाकर चालू होती है और अपने आप पंखे चलने लगते हैं। उनके इस चॉपर की दुनिया भर में तारीफ हो रही है।

बनियापुर ब्लॉक के शरमी गांव के रहने वाले युवक मिथिलेश कुमार प्रसाद के पिता किसान हैं। मिथिलेस ने कहा कि वह बचपन से ही पायलट बनना चाहते थे लेकिन आर्थिक तंगी के चलते उनका यह सपना पूरा नहीं हो पाया। वह गुजरात में पाइपलाइन फिटर का काम करता है।

मिथिलेश ने अपने सपने को पूरा करने के लिए दूसरा तरीका सोचा। इस काम में मिथिलेश का साथ उसके भाई सुजीत ने भी दिया। सुजीत ने सभी जरूरी तकनीकों को पढ़ा और कार को चॉपर बनाने में अपने भाई की मदद की।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: