December 10, 2022

Breaking News

मेयर गामा ने स्मार्ट सिटी के अब तक हुए सभी कार्यों की वित्तीय जांच कराए जाने की मांग उठाई

मेयर गामा ने स्मार्ट सिटी के अब तक हुए सभी कार्यों की वित्तीय जांच कराए जाने की मांग उठाई

देहरादून नगरनिगम के मेयर सुनील उनियाल गामा ने स्मार्ट सिटी के कार्य कर रही कंपनी व इससे जुड़े ठेकेदारों की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि स्मार्ट सिटी के कार्य जगह-जगह पर लटके पड़े हैं, जिस कारण लोगों को खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने स्मार्ट सिटी के कार्यों में भ्रष्टाचार की भी बात कही है। मेयर ने इस संबंध में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को एक पत्र लिखा है। इस कड़े पत्र में उन्होंने स्मार्ट सिटी देहरादून के अब तक हुए सभी कार्यों की वित्तीय जांच कराए जाने की मांग की है, जिससे इसमें हुए भ्रष्टाचार का खुलासा हो सके। मेयर ने स्मार्ट सिटी देहरादून व गैर जिम्मेदार ठेकेदारों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की भी सीएम से मांग की है।


सीएम को लिखे पत्र में मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा है कि स्मार्ट सिटी मिशन देहरादून की जब शुरुआत हुई थी तब देहरादून की जनता में नये स्मार्ट देहरादून शहर को लेकर उत्साह था और भव्य एवं उज्वल शहर की परिकल्पना की आश बंधी थी। लेकिन विगत 3 वर्षों से जो हो रहा है वह ठीक इसके विपरीत है। गैरजिम्मेदार ठेकेदारों ने स्मार्ट सिटी देहरादून के उज्जवल भविष्य को न केवल अंधकार में धकेला बल्कि जनभावनाओं से खिलवाड़ करने में कोई कमी नहीं रखी।

पत्र में उन्होंने लिखा है कि नगर का मेयर होने के नाते बड़े दुखी मन से आपको बताना चाहता हूं कि स्मार्ट सिटी देहरादून जनता के लिए सिरदर्द बन गई है। बात चाहे शहर में स्मार्ट सिटी के नाम पर खुदी सड़कों की करें या खुदे पड़े गडढों की हो, बेतरतीब काम करते हुए पइप लइनों के टूटने की करें या फिर अव्यवहारिक रूप से कार्य करते हुए सीवर लाइनों को क्षतिग्रस्त करने की, सभी जगह स्मार्ट सिटी देहरादून व ठेकेदार अव्यवहारिक कार्य करने के लिए प्रसिद्ध हुए हैं।

मुख्यमंत्री जी, आपने कड़ा रूख अपनाते हुए स्मार्ट सिटी देहरादून के अंतर्गत कार्य करने वाली एक कंपनी को ब्लैक लिस्ट किया था, जिससे जनप्रतिनिधियों एवं आम जनता में बहुत बड़ा सकारात्मक संदेश गया, लेकिन खेद के साथ अवगत कराना चाहता हूं कि आप द्वारा की गई दंडात्मक कार्रवाई भी उनके लिए नजीर नहीं बन पा रही है, क्योंकि उनके द्वारा किए गए अव्यवहरिक कार्यों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले राह है। पल्टन बाजार, परेड ग्राउंड, राजपुर रोड के नालों का कार्य जो स्मार्ट सिटी द्वारा विगत वर्ष नवंबर से प्रारंभ किया गया था वह भी जस का तस पड़ा हुआ है।

कार्य में किसी प्रकार की कोई प्रगति नहीं हुई है और ऐसे ही न जाने कितने कार्य खामियों से भरे पड़े हैं, जिनके चलते आम जनता का रोष भी लगातार जनप्रतिनिधियों के प्रति बढ़ रहा है। सीएम को लिखे पत्र में मेयर सुनील उनियाल गामा ने कहा है कि मैं आपसे आग्रह करता हूं कि स्मार्ट सिटी देहरादून के अब तक हुए सभी कार्यों की वित्तीय जांच कराई जाए, जिससे इसमें हुए भ्रष्टाचार का खुलासा हो सके।

मेयर ने यह भी निवेदन सीएम से किया है कि सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी देहरादून व गैर जिम्मेदार ठेकेदारों के विरूद्ध कठोर रूप अपनाते हुए ऐसे फैसले लिए जाएं जो स्मार्ट सिटी देहरादून व ठेकेदारों के लिए भविष्य में एक नजीर बने।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *