देहरादून: मैड ने तरला नागल में चलाया सफाई एवं जागरूकता अभियान | Doonited.India

October 22, 2019

Breaking News

देहरादून: मैड ने तरला नागल में चलाया सफाई एवं जागरूकता अभियान

देहरादून: मैड ने तरला नागल में चलाया सफाई एवं जागरूकता अभियान
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.
देहरादून:  पिछले आठ सालों से महात्मा गाँधी के आदर्श ष्स्वच्छता, भक्ति से भी बढ़कर है, पर काम कर रहे देहरादून के शिक्षित छात्रों के संगठन, मेकिंग ए डिफरेंस बाय बीइंग द डिफरेंस (मैड) संस्था ने बुधवार को सहस्त्रधारा हेलिपैड के पास एक व्यापक सफाई एवं जागरूकता अभियान चलाया। इस अभियान में करीब चार दर्जन से भी ज्यादा स्वयंसेवियों ने हिस्सा लिया। जिसमें चैप्टर के छात्र भी शामिल थे, जिन्होंने मैड के साथ मिल कर साफ सफाई और पर्यावरण संरक्षण का सन्देश दिया।

मैड सदस्य पहले एस्ल हॉल के पास एकत्र हुए, और फिर, हर बार की तरह, सार्वजानिक परिवहन के सहारे गंतव्य स्थान तक पहुंचे। मौके पर पहुँच कर मैड सदस्यों को यह एहसास हुआ कि जिस कचरे को वो साफ करने वाले थे, वो ज्यादातर प्लास्टिक कचरा था वो भी सिंगल यूज प्लास्टिक, जो कि केदारनाथ और बद्रीनाथ से हेलीकाप्टर द्वारा लौटने वाले तीर्थ यात्रियों के जलपान के लिए यहाँ सबसे आसानी से उपलब्ध है। और पूछताछ करने पर मैड सदस्यों ने यह भी पाया कि चूंकि आसपास के क्षेत्र में कोई कूड़ेदान नहीं था, इसलिए दुकानदारों और पर्यटकों को बस खुले में अपना कचरा खुले में ही फेंकना पड़ता है।

करीब 50 मैड सदस्यों और स्वयंसेवकों और न्च्म्ै  के छात्रों के समर्थन से चार घंटों की कड़ी मेहनत के बाद करीब 50 कट्टे भर कर कचरा एकत्र किया गया। मैड संस्था के सदस्य जो कि पिछले काफी समय से सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चला रहे है, उन्होंने इस एक्टिविटी में एक भी प्लास्टिक बैनर ना उपयोग कर इस एक्टिविटी को और खास बना दिया। एक्टिविटी के दौरान प्रचार-प्रसार कपड़ों से बने हुए बैनर के जरिए किया गया। न्च्म्ै के स्टूडेंट्स भी अपने साथ कपड़े का बैनर लेकर आए। यह गौर करने की बात है कि इसी साल मैड द्वारा उनके सालाना कार्यक्रम मैडाथोन जिसमें 8000 से ज्यादा प्रतिभागियों ने भाग लिया और लंबी दौड़ पूरी की उसमे एक भी प्लास्टिक वस्तु का प्रयोग ना कर मैड ने एक अद्भुत उदाहरण पेश किया था।

मैड संस्था ने देहरादून शहर में सभी राजनीतिक दलों और सगठनों को अक्सर चुनौती दी है कि वो अपने जीवन के हर पहलू और प्रसार में सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से बंद करें। मैड को उम्मीद है कि स्वछता पर बढ़ती जागरूकता के साथ, यह संस्था एक दिन स्वच्छ दून देखने के अपने इस प्रयास में सफल होगी। अभियान में आदर्श त्रिपाठी, करन कपूर, खुशाली गुप्ता, सारंग गोडबोले, इन्दर, आर्ची बिष्ट शामिल थे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: