August 01, 2021

Breaking News
COVID 19 ALERT Middle 468×60

Lionel Messi: सपना 16 साल बाद पूरा हुआ

Lionel Messi: सपना 16 साल बाद पूरा हुआ

तीन बार बड़े टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले हारने के बाद लियोनेल मेसी ने एलान किया था बहुत हो गया और अब अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कहेंगे. 2016 के कोपा अमेरिका कप के फाइनल मैच फुटबॉल प्रेमियों को ज़रूर याद होगा. 5 साल पहले अमेरिका में खेला गया था कोपा अमेरिका कप और चिली के खिलाफ टाई ब्रेकर में अपना शॉट मिस करने के बाद मेसी ने सन्यास का एलान कर दिया था. 

2014 के विश्वकप फाइनल में सबसे पहले जर्मनी और उसके बाद 2015 और 2016 में चिली के खिलाफ लगातार दो बार कोपा अमेरिका कप के फाइनल मुकाबलों में हारने के बाद मेसी को लगा था वह देश के लिए हर कोशिश के बावजूद खिताब नहीं जीत पा रहे.

5 साल पहले मेसी के इस एलान के बाद तमाम फुटबॉल प्रेमियों के साथ साथ डिएगो माराडोना भी दुखी हुए थे. उन्होंने भी मेसी को सलाह दिया था कि और कुछ साल देश के लिए खेलते रहना चाहिए. इसके बाद स्पॉन्सर्स के दबाव और अर्जेंटीना फुटबॉल फेडरेशन के बार बार कहने पर मेसी ने अपना निर्णय बदल लिया.

Read Also  कुंभ कोरोना टेस्टिंग कांड: पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि ''यह एक गंभीर अपराध है, कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.

लेकिन 2018 वर्ल्ड कप या फिर 2019 के कोपा में भी खिताब उनके हाथ नहीं लगा. 2007 के कोपा अमेरिका कप में भी ब्राज़ील के हाथों फाइनल मुकाबले में भी अर्जेंटीना को हार का सामना करना पड़ा था. खैर, वो बात अलग है क्योंकि लियोनेल मेसी ने तब अपना इंटरनेशनल करियर अर्जेंटीना के लिए शुरू किया था और उनके सामने बहुत समय था.

इस बार कोपा अमेरिका कप के फाइनल में फिर से 14 सालों के बाद फिर से अर्जेंटीना की टक्कर ब्राजील से थी. फाइनल तक के सफर में मेसी ने 4 गोल किये थे और अर्जेंटीना के 5 गोल में असीस्ट किया. पूरी फुटबॉल दुनिया की नज़र इस फाइनल मैच पर थी, क्योंकि मेसी अब 34 साल के हो गए है और 2022 में क़तर विश्वकप में खिताब जीतना अर्जेंटीना के लिए बिल्कुल आसान नही होगा.

इस बार मेसी को एंजेल डी मारिया ने खाली हाथ वापस नहीं जाने दिया. खेल के 22 वे मिनट पर ब्राज़ील डिफेंस की गलती का फायदा उठाते हुए डी मारिया ने स्कोर किया. भले ही इस बार फाइनल में मेसी कोई गोल नही कर पाएं, लेकिन देश के लिए पहली बार कोई बड़े टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया.

Read Also  ओलंपिक के बीच अब टोक्यो पर कोरोना का साया

2008 के बीजिंग ओलंपिक खेलों में अर्जेंटीना ने फुटबॉल का गोल्ड मेडल हासिल किया था. उस टीम में लियोनेल मेसी भी शामिल थे. लेकिन ओलंपिक के पदकों को फुटबॉल विश्व मे बड़े टूर्नामेंट के खिताबों में गिना नहीं जाता है क्योंकि हर देश को अपनी अंडर 23 टीम के साथ खेलना होता है और तीन ही सीनियर खिलाड़ी एक टीम में शामिल किए जा सकते हैं.

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: