Doonitedश्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट : पीएमNews
Breaking News

श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट : पीएम

श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट : पीएम
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलकाता बंदरगाह न्यास की स्थापना के 150 वर्ष पूरा होने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में इसका नाम श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर करने की घोषणा की और कहा कि देश के तट विकास के मुख्य द्वार हैं. पीएम मोदी ने कहा कि देश के तट विकास के प्रवेश द्वार हैं और सरकार ने संपर्क में सुधार करने के लिए सागरमाला कार्यक्रम की शुरुआत की.

देश के ऐतिहासिक कालखंड का गवाह रहा कोलकाता पोर्ट जब अपनी स्थापना के 150वें वर्ष पूरे कर रहा था तब पीएम मोदी ने उसका नाम महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्यामा प्रसाद के नाम पर ऐलान कर देशवासियों को बड़ी सौगात दी.

पीएम मोदी ने इस अवसर पर पोर्ट ट्रस्‍ट से जुड़ा एक विशेष गीत भी जारी किया और एक स्मारक डाक टिकट भी जारी किया. उन्होंने कहा कि कोलकाता का पोर्ट भारत की औद्योगिक, आध्यात्मिक और आत्मनिर्भरता की आकांक्षा का प्रतीक है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस ट्रस्‍ट के मौजूदा और सेवानिवृत कर्मचारियों के पेंशन कोष में कमी की भरपाई के लिए 501 करोड़ रुपये का चेक दिया. एक यादगार कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कोलकाता पोर्ट ट्रस्‍ट के 105 और 100 वर्ष आयु के दो वयोवृद्ध कर्मचारी नगीना भगत और नरेश चंद्र चक्रबर्ती को सम्‍मानित किया.

पीएम मोदी ने सामानों की सुगम आवाजाही के लिए पोर्ट में फुल रेक हैंडलिंग सुविधा का उद्घाटन किया और उन्‍नत बनाई गई रेलवे अवसंरचना राष्‍ट्र को समर्पित की. उन्होंने हल्दिया डाक परिसर में बर्थ नबंर-3 में मशीन संचालित सुविधाओं और एक प्रस्‍तावित रिवरफ्रंट विकास योजना का भी शुभारंभ किया. इस मौके पर सुंदरबन की 200 आदिवासी छात्राओं के लिए प्रीतिलता छत्री में एक कौशल विकास केंद्र का उद्घाटन किया गया. पीएम मोदी ने बताया कि इस वर्ष हल्दिया में मल्टीमॉडल टर्मिनल और फरक्का में नेविगेशनल लॉक को तैयार करने का प्रयास है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मां गंगा के सानिध्य में गंगासागर के पास देश की जलशक्ति के इस ऐतिहासिक प्रतीक पर समारोह का हिस्सा बनना सौभाग्य की बात है. पीएम मोदी ने संविधान निर्माता बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर को भी याद किया और उनकी नीतियों पर ठोस कार्रवाई न करने का भी आरोप लगाया.

नागरिकता (संशोधन) कानून को लेकर विपक्ष पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सीएए नागरिकता देने का कानून है, छीनने का नहीं.

कोलकाता के बेलूर मठ में युवाओं और भिक्षुओं की एक विशाल सभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि कुछ लोग नागरिकता कानून को लेकर भ्रम फैला रहे हैं. पीएम ने कहा कि इस कानून को रातों-रात नहीं बल्कि सोच-विचार कर बनाया गया है, लेकिन कुछ राजनी‍तिक दल इसे जान-बूझकर समझना नहीं चाहते हैं.

प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान पर तंज कसते हुए कहा कि इस कानून के लागू होने के बाद पाकिस्तान का सच दुनिया के सामने आ गया है.

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agency

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: