October 17, 2021

Breaking News

खाना ख़जाना के संजीव कपूर

खाना ख़जाना के संजीव कपूर

जब भी कभी खाना बनाने का जिक्र होता है। एक शक्स का नाम सबसे पहले हमारे दिमाग में आता हैं। जो सब के दिल और दिमाग पर छाया हुआ है वह है। – संजीव कपूर – Sanjeev Kapoor

 

 

 

संजीव कपूर का नाम सुनते है भारत की सभी housewife और बच्चो के चेहरे पे एक मुस्कराहट आ जाती है और यही उनके सफलता और लोकप्रियता की निशानी है।

 

 

खाना ख़जाना के संजीव कपूर – Sanjeev Kapoor

संजीव कपूर – Sanjeev Kapoor एक प्रसिद्ध भारतीय शेफ है, जो सिर्फ भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में उनके खाना बनाने के अंदाज से पहचाने जाते हैं। साथ ही उन्होंने अपने इस गुण को बहुत से लोगो को सिखाया भी है।

उन्होंने टी व्ही शो ‘खाना खजाना’ से शुरुआत की। उस ज़माने में जब टीवी पर सिर्फ मनोरंजन या न्यूज़ से जुड़े कार्यक्रम ज्यादातर देखे जाते थे। संजीव कपूर के इस शो ने सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशो मे भी अपने fans बनाये।

शुरुवात में सिर्फ भारत में देखने जाने वाला यह शो पुरे एशिया में देखा जाने लगा। 2010 तक इस शो को 120 देशो में देखा जाने लगा और इस शो के 500 मिलियन से जादा विवर्स (देखने वाले) थे। खाना खज़ाना शो के videos आज भी लोग youtube पर repeat देखते है।

Read Also  जब चावल से बनाएंगे ये टेस्टी क्रिस्पी व्यंजन, बार-बार खाने का करेगा मन

जैसे जैसे टेक्नोलॉजी में बदलाव आने लगा, संजीव कपूर ने कुछ ऐसा किया जो देखकर उनकी दूरदृष्टि की दाद देनी चाहिए। जनवरी 2011 में उन्होंने खुद का चैनल फ़ूड फ़ूड लांच किया। संजीव कपूर ने डिस्कवरी चैनल द्वारा भारतीय संगठन से कपूर चैनल शुरू किया। यह चैनल आज खाने से जुडी हुयी कई सारी महत्वपूर्ण चीज़े लोगोंको बताता है और कई जाने-माने chefs और खाने की जगत की हस्तियाँ इससे जुड़े हुयी है।

संजीव कपूर का आरंभिक जीवन एवं शिक्षा – Sanjeev Kapoor early life and education



संजीव कपूर का जन्म हरियाणा में हुआ परन्तु ज्यादातर उनका बचपन नई दिल्ली में गुजरा। 1984 में उन्होंने हॉस्पिटैलिटी उद्योग की शुरुआत की। साथ ही उन्होंने डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट का भी कोर्स किया। इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट (IHM) पूसा से और कैटरिंग टेक्नोलॉजी एंड एप्लाइड नुटरीशन नई दिल्ली से किया।

उन्होंने डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट का भी कोर्स किया

संजीव कपूर जी ने अपना करिअर भारत में उनके प्रबंधको के निचे रह कर शुरुआत किया। बाद मे उन्होंने कई होटलों में काम किया और फिर वो मुम्बई के सेण्टर होटल के एग्जीक्यूटिव चीफ (शेफ) बने और उनको बेस्ट एग्जीक्यूटिव चीफ (शेफ) ऑफ़ इंडिया का अवार्ड H and FS से मिला और मर्कुरी गोल्ड अवार्ड जिनेवा स्विट्ज़रलैंड में फेडरेशान ऑफ़ कुलिनारी एसोसिएशन की और से मिला। सिंगापूर एयरलाइन्स ने उनको इंटरनेशनल पैनल का अपना मेम्बर बनाया।

Read Also  Anthony Fauci & COVID-19 pandemic

ब्रांड एम्बेसडर भी बने

संजीव कपूर भारतीय स्वीकार एडवांस्ड के ब्रांड, सूर्य तेल के ब्रांड एम्बेसडर भी बने। संजीव कपूर भारत के मशहूर चेहरों में से है। संजीव कपूर ने एक शेफ, एक होस्ट, के रूप में भी काम किया है और उन्होंने एक खाना बनाने की बुक भी प्रसारित की है।

2010 में उन्होंने खाना खजाना नामक एक रेसिपी बुक थी

2001 में उन्होंने अपना पहला येल्लो मिर्ची रेस्टोरंट शुरू किया और अब ये भारत के कई शहरो में है। इस रेस्टोरंट में बनने वाली मेनू उनके द्वारा तैयार की हुई है। 2010 में उन्होंने खाना खजाना नामक पुस्तक प्रसारित की जो एक रेसिपी बुक थी। भारत के कई रेस्टोरंट में उनकी रेसिपी की पहचान है। कपूर ने अपनी सी.डी. एवं पुस्तके तैयार की जिसमें रेसिपी को तैयार किये जाने के तरिके बताए हुए है।

जनवरी 2011 में उन्होंने अपना एच् डी चैनल फ़ूड फ़ूड शुरू किया जिस में पूरी तरह से रेसिपी तैयार किया जाना ही दिखाया जाता है। “fundacion consejo espana” के लिए 2012 में उन्हें नामनिर्देशन किया गया।

संजीव कपूर के किचन खिलाडी में जज बने

2013 में कपूर ने संजीव कपूर के किचन खिलाडी में जज बने और इस कार्यक्रम का प्रसारण सोनी चैनल ने 16 सितम्बर 2013 में किया। स्टार प्लस के मास्टर शेफ इंडिया में संजीव कपूर सेलिब्रिटी जज भी बने। संजीव कपूर 2011 में भारत के किचन ब्रांड स्लिक किचन केे ब्रांड एम्बेसडर भी बने।

Read Also  घर पर कैसे बनाएं मैंगो कस्टर्ड

भारतीय रेल में बनने वाले व्यंजनो के लिए संजीव कपूर को प्रस्तावित किया गया। आज संजीव कपूर दुनियाभर में मास्टर शेप नाम से प्रसिद्ध हैं। और उनकी मेहनत हमें बताती हैं की,

“आप चाहे कोई भी काम करे, अगर दिल लगाकर पुरे मेहनत के साथ करते हो तो दुनिया आपको सर आँखों पर रखेगी।”

संजीव कपूर जी ने दो दशको से भी ज्यादा वक़्त भारतीय लोगो के दिलो पर राज किया है और आगे भी करते रहेंगे। उनके इस महान कार्य के लिए उन्हें भारत सरकार की तरफ से 2017 में पद्मश्री पुरस्कार से नवाज़ा गया।

फ़ूड industry में उनको आज भी बहुत ही सन्माननीय लोगो में गिना जाता है। उनका योगदान बेहद अनमोल और हम सब के लिए बहुत ही प्रेरणादायी है।

Related posts

Leave a Reply

Content Protector Developer Fantastic Plugins
%d bloggers like this: