Breaking News

जूही चावला ने 5G के लगने से पहले केस दर्ज किया

जूही चावला ने 5G के लगने से पहले केस दर्ज किया

5G से कोरोना बढ़ने की अफवाह फैलने के बाद से देश में 5G इंटरनेट टावर परिक्षण पर प्रतिबंध लागने की मांग तेज हो गई है. बॉलीवुड एक्ट्रेस जूही चावला भी इस मुहिम में शामिल हो गई हैं. जूही पर्यावरण को लेकर फैंस को सोशल मीडिया पर अवेयर करती रहती हैं. वे अक्सर पर्यावरण को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट भी शेयर करती रहती हैं. वे काफी लम्बे समय से मोबाइल टावरों से निकलने वाले हानिकारक रेडिएशन  के खिलाफ लोगों में जागरुकता फैलाने की कोशिश करती रहीं हैं. इसे लेकर उन्होंने अदालत का दरवाजा भी खटखटाया है.

 

5G के लगने से पहले इसके खिलाफ केस दर्ज किया है. जिसको लेकर पहली सुनवाई आज होने वाली है. जूही ने अपनी याचिका में कहा है कि टेलिकम्यूनिकेशन इंडस्ट्री 5G तकनीक भारत में लाने की तैयारी कर रही है तो इसके एक्सपोजर से इंसान, जानवर, पक्षी कोई भी इस पृथ्वी पर बच नहीं पाएगा. आरएफ रेडिएशन आज की तुलना में 10- 100 गुना बढ़ जाएगी. इस 5जी तकनीक की वजह से इंसान के साथ पृथ्वी के इकोसिस्टम पर भी बुरा प्रभाव पड़ेगा.

 

Read Also  मलाइका अरोड़ा COVID-19 वैक्सीन की पहली dose ली

जूही ने मीडिया से कहा है कि हम उन्नत किस्म के तकनीक को लागू किए जाने के खिलाफ नहीं हैं. बल्कि हम टेक्नोलॉजी के नए प्रोडक्ट्स का भरपूर लुत्फ उठाते हैं जिनमें वायरलेस कम्युनिकेशन का भी हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के डिवाइजों को इस्तेमाल करने को लेकर हम हमेशा ही असमंजस की स्थिति में रहते हैं क्योंकि वायरफ्री गैजेट्स और नेटवर्क सेल टावर्स से संबंधित हमारी खुद की रीसर्च और अध्ययन से ये पुख्ता तौर पर पता चलता है कि इस तरह की रेडिएशन लोगों के स्वास्थ्य और उनकी सुरक्षा के लिए बेहद हानिकारक है.

 

बता दें कि जूही पिछले कई सालों से 5G टेक्नॉलजी को लेकर जागरुकता अभियान चला रहीं हैं. साल 2018 में उन्होंने महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उन्होंने मोबाइल टावर और वाईफाई हॉटस्पॉट से निकलने वाले रेडिएशन से लोगों के स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण को होने वाले नुकसान के बारे में आगाह किया था.

Related posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: