राज्यसभा से पास हुआ जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, पक्ष में 125 और विपक्ष में 61 वोट पड़े | Doonited.India

August 26, 2019

Breaking News

राज्यसभा से पास हुआ जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, पक्ष में 125 और विपक्ष में 61 वोट पड़े

राज्यसभा से पास हुआ जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, पक्ष में 125 और विपक्ष में 61 वोट पड़े
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राज्यसभा से पास हुआ जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, पक्ष में 125 और विपक्ष में 61 वोट पड़े

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल राज्यसभा से पास हो गया है। सदन में पर्ची से हुई वोटिंग में बिल के समर्थन में 125 वोट पड़े, जबकि इसके विरोध में 61 वोट पड़े। इस बिल के पास होते ही अब जम्मू और कश्मीर और लद्दाख दो नए केंद्र शासित प्रदेश बन गए हैं। साथ ही जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाली धारा 370 भी रद्द हो गया है।

राज्यसभा में अमित शाह बोले- हमेशा केंद्र शासित राज्य नहीं रहेगा जम्मू-कश्मीर

राज्यसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि जम्मू और कश्मीर हमेशा केंद्र शासित प्रदेश नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि अगर हालात सही रहे तो फिर से इसे पूर्ण राज्य बनाया जा सकता है।

भारत की अब तक की सभी सरकारों ने कश्मीर के लोगों को जो आश्वासन दिया था उसके टुकड़े कर दिए गए आजः शशि थरूर

जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाने और राज्य को विभाजित करने के सरकार के फैसले पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि यह वह भारतीय लोकतंत्र नहीं है जिसे हमने 7 दशकों से ज्यादा समय तक पोषित किया। भारत की तमाम सरकारों जिनमें बीजेपी के लोग भी शामिल हैं, ने कश्मीर के लोगों और नेताओं के साथ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को जो आश्वासन दिया था उसके अब टुकड़े कर दिए गए हैं।

कश्मीर में सिर्फ मुस्लिम नहीं रहते, अगर धारा 370 खराब है तो सबके लिए हैः अमित शाह

जम्मू और कश्मीर से धारा-370 हटाने के फैसले पर राज्सयभा में जारी चर्चा का जवाब देते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि उनकी पार्टी धर्म की राजनीति में विश्वास नहीं करती। उन्होंने कहा, क्या कश्मीर में सिर्फ मुस्लिम रहते हैं? वहां मुस्लिम, हिंदू, सिक्ख, जैन और बौद्ध सभी रहते हैं। अगर धारा 370 अच्छा है तो सभी के लिए अच्छा है, और अगर यह खराब है तो सभी के लिए खराब है।

धारा 370 और 35ए का कारण राज्य में कभी लोकतंत्र लागू नहीं हुआः अमित शाह

राज्य सभा में सरकार द्वारा धारा 370 हटाने के फैसले पर बोलते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि वह राज्य के लोगों को बताना चाहते हैं कि धारा 370 और 35ए के कारण राज्य में लोकतंत्र कभी पूरी तरह से लागू नहीं हो पाया। इन धाराओं की वजह से राज्य में भ्रष्टाचार बढ़ा, जिसकी वजह से कोई विकास नहीं हो पाया।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agency

Related posts

error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: