इमरजेंसी फंड नहीं मिला तो पूरी तरह जमीन पर आ जाएगी जेट एयरवेज? | Doonited.India

April 25, 2019

Breaking News

इमरजेंसी फंड नहीं मिला तो पूरी तरह जमीन पर आ जाएगी जेट एयरवेज?

इमरजेंसी फंड नहीं मिला तो पूरी तरह जमीन पर आ जाएगी जेट एयरवेज?
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

क्या जेट एयरवेज पर ताला लग जाएगा? गहरे संकट में फंसी जेट एयरवेज को लेकर मंगलवार को हुई इमरजेंसी मीटिंग में इसे कर्ज देने वाले इस बात पर बंटे हुए थे कि इस 1000 करोड़ रुपये की अंतरिम फंडिंग बगैर किसी अतिरिक्त गारंटी के दी जाए या नहीं. इस बारे में कोई फैसला नहीं हो सका है. एयरलाइंस ने 400 रुपये की इमरजेंसी फंडिंग की भी मांग की है लेकिन ये भी नहीं मिला है. अब इसके पास सिर्फ 7 प्लेन बचे हैं. ये फंडिंग नहीं हुई तो हो सकता है कि जेट एयरवेज हमेशा के लिए बंद हो जाए.

एसबीआई से इमरजेंसी फंड मिलने में भी दिक्कत

फंडिंग को लेकर जेट की परेशानियां जारी है. दूसरी ओर जेट के 16 हजार से ज्यादा कर्मचारियों को जनवरी से वेतन नहीं मिला है. दरअसल जेट एयरवेज की बिडिंग के लिए नरेश गोयल के कंसोर्टियम ने भी अप्लाई किया था लेकिन नई फंडिंग के लिए आगे आने वाली कंपनियों ने नाराजगी में अपने हाथ खींचने की धमकी दे दी. दूसरी ओर, जेट के मौजूदा सीईओ विनय दुबे 400 करोड़ की इमरजेंसी फंडिंग के लिए एसबीआई के लिए पहुंचे थे. लेकिन जेट को 400 रुपये की इमरजेंसी फंडिंग मिल पाएगी या नहीं यह भी तय नहीं है. इससे जेट के पूरी तरह बंद होने की आशंका गहराने लगी है.

कंपनी ने सोमवार को बोर्ड की बैठक बुलाई थी, जिसमें वित्तीय संकट से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई. कंपनी से जुड़े सूत्रों की मानें तो अभी तक कर्जदाताओं की तरफ से कंपनी को अंतरिम वित्तीय राहत नहीं मिली है.सोमवार को हुई बोर्ड की बैठक के बाद कंपनी के सीईओ विनय दुबे ने कर्मचारियों को एक ईमेल भेजा था, जिसमें बताया गया कि बैंक इमरजेंसी फंडिंग पर अब तक फैसला नहीं कर सके हैं. बैठक के बाद बोर्ड ने ऑपरेशन को रोकने की सलाह दी. इसके बाद मंगलवार को भी कंपनी बोर्ड की मीटिंग हुई. इस बैठक में भी एयरलाइंस को कर्ज देने वाले बंटे हुए थे.

जेट के कर्मचारी निराश,कई महीनों से वेतन नहीं

संकटग्रस्त जेट एयरवेज के कर्मचारियों की निराशा चरम पर पहुंच चुकी है, क्योंकि कंपनी बंद होने के करीब पहुंच चुकी है. अभी तक कर्जदाताओं की तरफ से कंपनी को अंतरिम वित्तीय राहत नहीं मिली है और कर्मचारियों सभी उम्मीदें धूमिल हो चुकी हैं और वे कठिन परिस्थितियों के लिए तैयार हो चुके हैं.

कंपनी के एक इंजीनियर ने अपना दैनिक खर्च चलाने के लिए एलआईसी पॉलिसी गिरवी रखकर कर्ज लिया है. उन्होंने बताया, “हम अपने बकाए को पाने के लिए श्रम आयुक्त का दरवाजा खटखटाने जा रहे हैं.”

एयरलाइन के सूत्रों ने बताया कि जेट एयरवेज के सैंकड़ों पायलट अगले कुछ दिनों में कंपनी छोड़ कर जानेवाले हैं, क्योंकि उन्हें कंपनी के आगे चलने का कोई भरोसा नहीं है. इंजीनियर ने कहा, “जेट एयरवेज का शेयर अचानक काफी गिर चुका है. यह संकेत है कि एयरलाइन के लिए कुछ बचा नहीं है और वह अपना ऑपरेशन बंद करने जा रही है.”

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Post source : agencies

Related posts

Leave a Comment

Share
error: Be Positive Be United
%d bloggers like this: